Jasprit Bumrah should not be overused, says MSK Prasad
Jasprit Bumrah © Getty Images

भारतीय टीम के मुख्‍य कोच एमएसके प्रसाद का कहना है कि तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह भारतीय टीम का बेहद महत्‍वपूर्ण हिस्‍सा हैं। उनका जरूरत से ज्‍यादा इस्‍तेमाल किया जाना ठीक नहीं रहेगा। प्रसाद ने कहा कि टेस्‍ट मैचों के गेंदबाज के रूप में बुमराह का निखर कर बाहर आना भारतीय टीम के लिए सबसे बड़ा फायदा है।

न्‍यूज एजेंसी पीटीआई से बातचीत के दौरान प्रसाद ने कहा, “हम बुमराह के प्रदर्शन से बेहद खुश हैं। उसने रणजी ट्राफी में गुजरात की तरफ से खेलते हुए काफी अच्‍छा प्रदर्शन किया था, तभी से हमे उसकी काबलियत पर विश्‍वास है। मौजूदा समय में हमारी प्राथमिकता बुमराह पर वर्कलोड पर ध्‍यान देने की है।”मुख्‍य सिलेक्‍टर ने कहा, “दक्षिण अफ्रीका दौरे के दौरान बुमराह ने तीनों फार्मेट के क्रिकेट को मिलाकर कुल 162 ओवर डाले। केवल टेस्‍ट मैचों के दौरान ही वो 112.1 ओवर डाल चुका था। ऐसे में इस बात पर का विशेष ध्‍यान देना होगा कि बुमराह का जरूरत से ज्‍यादा इस्‍तेमाल न हो। हमे इस साल में काफी अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट भी खेलना है।”

आइपीएल-11 में इस नए नियम को किया जाएगा लागू, अबतक पाकिस्‍तान की क्रिकेट लीग में इस्‍तेमाल होता है ये  नियम
आइपीएल-11 में इस नए नियम को किया जाएगा लागू, अबतक पाकिस्‍तान की क्रिकेट लीग में इस्‍तेमाल होता है ये नियम

प्रसाद ने बातचीत के दौरान यह कहने का प्रयास किया कि बुमराह का इस्‍तेमाल आगे आने वाले समय में केवल महत्‍वपूर्ण टेस्‍ट सीरीज में ही किया जाएगा। इस साल हमें कई विदेशी दौरे करने हैं। भारतीय टीम को इंग्‍लैंड में जाकर टेस्‍ट सीरीज खेलनी है, जबकि साल के अंत में ऑस्‍ट्रेलिया दौरा भी है। विदेशी दौरों पर तेज गेंदबाजों की भूमिका काफी अहम हो जाती है। उन्‍होंने दक्षिण अफ्रीका दौरे के दौरान कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की स्पिन गेंदबाजी की भी जमकर तारीफ की। दोनों ने छह वनडे के दौरान कुल 33 विकट चटकाए। अब‍ हमारे पास क्रिकेट के तीनों फार्मेट के लिए आर.अश्विन, रवींद्र जेड़ेजा, कुलदीप यादव और अक्षर पटेल जैसे गेंदबाज हैं।