© BCCI
© BCCI

आईपीएल नीलामी में बड़ी रकम मिलने से उत्साहित तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट को ये भरोसा करने में थोड़ा समय लगा कि फ्रेंचाइजियों में उन्हें टीम के साथ जोड़ने की होड़ मची थी। उनादकट अपनी घरेलू टीम सौराष्ट्र के खिलाड़ियों के साथ राजकोट में अगामी विजय हजारे ट्रॉफी की तैयारियों में लगे हैं और उन्होंने अपने फिजियो को कहा था कि जब उनकी नीलामी हो तो उन्हें इसके बारे में बता दें।

राजस्थान रॉयल्स ने उनादकट को 11.5 करोड़ रूपये में टीम के साथ जोड़ा। मौजूदा नीलामी में सबसे महंगा भारतीय खिलाड़ी बनने के बाद उनादकट ने पीटीआई से कहा, ‘‘ जब मुझे फिजियो ने कहा कि मेरी नीलामी हो रही है, अगले 15 मिनट तक मैं उसे देखता रहा और ये शानदार थी। पूरी टीम अभ्यास रोक कर नीलामी को देखने लगी।’’ बाएं हाथ के 26 वर्षीय इस तेज गेंदबाज ने देश के लिये 1 टेस्ट, 7 वनडे और 4 टी20 मैच खेले है लेकिन पिछले एक साल में वो टी20 फॉर्मेट के किफायती गेंदबाज बनकर उभरे हैं। उन्हें उम्मीद नहीं थी की कोई फ्रेंचाइजी किसी तेज गेंदबाज के लिये 10 करोड़ रुपये से ज्यादा की बोली लगायेगी क्योंकि अब तब ऐसा बल्लेबाजों के लिये होता आया था।

IPL इतिहास के सबसे महंगे तेज गेंदबाज बने जयदेव उनादकट, 11.50 करोड़ में बिके
IPL इतिहास के सबसे महंगे तेज गेंदबाज बने जयदेव उनादकट, 11.50 करोड़ में बिके

देश के लिए 2010 में अंडर-19 विश्व कप में खेलने वाले उनादकट ने कहा, ‘‘ ईमानदारी से कहूं तो मेरे दिमाग में कोई रकम नहीं थी। पिछले दो साल मेरे लिये शानदार रहे हैं। पिछला आईपीएल (24 विकेट) भी अच्छा रहा था। मैं अच्छी रकम उम्मीद कर रहा था लेकिन वास्तव में ऐसी बोली लगाने के कारण मैं हैरान हुआ था। मेरे लिए यह भी आश्चर्यचकित करने वाला था कि फ्रेंचाइजी तेज गेंदबाज के लिए इतना खर्च करने के लिए तैयार है।’’ उनादकट ने कहा कि उनसे काफी ज्यादा उम्मीदें होगी लेकिन वह इस बारे में सोचकर ज्यादा दबाव नहीं ले रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘ मैं इससे काफी उत्साहित हूं और इस बारे में खुश हूं। मुझसे उम्मीद होगी कि मैं फ्रैंचाइजी के लिए सर्वश्रेष्ठ करुं और मैं ऐसा करने का प्रयास करूंगा।’’