Kevin Pietersen becomes first foreign player to speak at MAK Pataudi Lecture
Kevin Pietersen (File Photo) © Getty Images

बैंगलोर में मंगलवार शाम को बीसीसीआई के वार्षिक अवार्ड समारोह का आयोजन किया गया। इस दौरान घरेलू सीजन में अच्‍छा प्रदर्शन करने वाले युवा खिलाड़ियों से लेकर महिला टीम व पुरुषों की टीम के खिलाड़ियों को सम्‍मानित किया गया। इस समारोह के दौरान एक खिलाड़ी ऐसा भी था जिसका भारतीय क्रिकेट से कोई कोई लेना देना नहीं है। बीसीसीआई ने इस समारोह में इंग्‍लैंड के पूर्व बल्‍लेबाज केविन पीटरसन को मंसूर अली खान पटौदी की जीवनी पर लैक्‍चर देने के लिए आमंत्रित किया।

UAE T-20 लीग पर पाकिस्‍तान ने तरेरी आंखे, कहा- नहीं खेलेंगे हमारे खिलाड़ी
UAE T-20 लीग पर पाकिस्‍तान ने तरेरी आंखे, कहा- नहीं खेलेंगे हमारे खिलाड़ी

भारतीय क्रिकेट के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब बीसीसीआई ने घरेलू अवार्ड में मंसूर अली खान पटौदी पर व्‍याख्‍यान में किसी विदेशी को आमंत्रित किया है। पीटरसन का मंसूर अली खान पटौदी से दूर दूर तक कोई लेना देना नहीं है। पीटरसन और पटौदी ने बेहद अलग समय अवधि के दौरान अपने-अपने देश के लिए क्रिकेट खेला है। पिछले एक साल से पीटरसन भारत में काफी चर्चा में हैं। वो इसलिए क्‍योंकि वाे भारत में वाइल्‍ड लाइव संरक्षण के लिए काम कर रहे हैं। उनकी इस मुहिम का फिल्‍म जगत से जुड़े स्‍टार भी समर्थन कर चुके हैं।

बीसीसीआई का किया विरोध

इस समारोह के दौरान टेस्‍ट क्रिकेट का समर्थन करते हुए केविन पीटरसन ने कहा, “सभी देशों के बोर्ड को टेस्‍ट क्रिकेट को बचान के लिए काम करना चाहिए। डे-नाइट मैच इसके लिए काफी अहम हैं।” पीटरसन बोले, ” आईपीएल का आयोजन रात के वक्‍त इसलिए किया जाता है ताकि क्रिकेट फैन्‍स अपने काम को खत्‍म कर घर लौट आएं और आराम से मैच का लुत्‍फ उठाएं। टेस्‍ट क्रिकेट दिन के वक्‍त होते हैं। अगर इन्‍हें भी डे-नाइट कर दिया जाए तो निश्चित तौर पर ज्‍यादा लोग टेस्‍ट क्रिकेट का आनंद ले सकेंगे।”

बता दें कि बीसीसीआई डे-नाइट टेस्‍ट मैच के पक्ष में नहीं है। इस साल के अंत में ऑस्‍ट्रेलिया दौरे के दौरान एक डे-नाइट टेस्‍ट खेलने के क्रिकेट ऑस्‍ट्रेलिया के प्रस्‍ताव को बीसीसीआई ने ठुकरा दिया था।