Kevin Pietersen fondly remembers late South Africa captain Hansie Cronje
Hansie Cronje © Getty Images

पूर्व इंग्लैंड कप्तान केविन पीटरसन पहले विदेशी क्रिकेटर बने जिन्हें एमएके पटौदी व्याख्यान में बोलने का निमंत्रण दिया गया है। यहां उन्होंने मैच फिक्सिंग प्रकरण पर भी बात की उन्होंने बताया कैसे इसने क्रिकेट को प्रभावित किया है।

मैच फिक्सिंग प्रकरण को याद करते हुए पूर्व दक्षिण अफ्रीकी कप्तान हैंसी क्रोन्ये पर चर्चा में उन्होंने बताया कि इस घटना ने उस क्रिकेट का सबकुछ खत्म कर दिया। उनकी जिंदगी तहस नहस कर दी और उनकी मौत भी एक अनसुलझी गुत्थी रही। दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान हैंसी क्रोन्ये को केविन पीटरसन ने एमएके पटौदी व्याख्यान में दिग्गजों की श्रेणी में रखा।

पीटरसन ने सचिन और कपिल देव को बताया महान

पीटरसन ने टेस्ट क्रिकेट की प्रासंगिकता पर जोर देते हुए अपने संबोधन में कहा ,‘‘ सचिन तेंदुलकर, शेन वार्न, मैल्कम मार्शल, स्टीव वॉ, रिचर्ड हैडली , कपिल देव । महान लेकिन विवादास्पद दिवंगत हैंसी क्रोन्ये भी ।’’

हैंसी क्रोन्ये की मौत पर आज भी शक

क्रोन्ये ने 2000 में स्वीकार किया था कि कुछ और खिलाड़ियों के साथ मिलकर उन्होंने मैच फिक्स करने के लिये पैसा लिया था । दो साल बाद उनकी विमान दुर्घटना में मौत हो गई लेकिन आज तक अटकलें लगाई जाती है कि दक्षिण अफ्रीका में सटोरियों के गिरोह ने उनकी हत्या कराई है ताकि आगे वह कोई और खुलासा नहीं कर सकें ।

भारत के पूर्व कप्तान मंसूर अली खान पटौदी की स्मृति में होने वाले इस व्याख्यान में संबोधित करने वाले पहले विदेशी खिलाड़ी पीटरसन ने कहा कि सीमित ओवरों के क्रिकेट की बजाय सफेद जर्सी में खेलने के दौरान अनमोल यादें बनती हैं ।
उन्होंने कहा ,‘‘ हर खिलाड़ी कई वनडे मैच खेलता है लेकिन जब हम उनकी असाधारण उपलब्धियों की बात करते हैं तो टेस्ट क्रिकेट का प्रदर्शन ही ध्यान में आता है ।’’