KL Rahul is ready to keep wicket for Team India if needed
KL Rahul and MS Dhoni © AFP

अफगानिस्तान के खिलाफ होने वाले ऐतिहासिक टेस्ट से ठीक पहले टीम इंडिया के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा चोटिल हो गए हैं। साहा ने हाल ही में दिए बयान में खुद कहा कि उनका इस मैच में खेलना निश्चित नहीं है। ऐसे में केएल राहुल टेस्ट टीम के लिए विकेटकीपिंग चुनौती के लिए तैयार हैं। वैसे तो राहुल पार्ट टाइम विकेटकीपर हैं लेकिन इंडियन प्रीमियर लीग के 11वें सीजन में उन्होंने किंग्स इलेवन पंजाब के सभी मैचों में विकेटकीपिंग की है और साथ ही साथ लगातार रन भी बनाए हैं।

जानिए, एशिया कप में कब और किससे होगा भारतीय महिलाओं का मुकाबला
जानिए, एशिया कप में कब और किससे होगा भारतीय महिलाओं का मुकाबला

आईएएनएस से बातचीत में राहुल ने कहा, “मैं हमेशा ही दोहरी जिम्मेदारी की चुनौती के लिए तैयार रहता हूं। मैं कड़ी ट्रेनिंग कर रहा हूं और अगर टीम को जरूरत पड़ी तो मैं इस भूमिका को निभाने के लिए तैयार हूं।” पूरे आईपीएल सीजन विकेटकीपर बल्लेबाज के तौर पर खेलने वाले राहुल ने कहा, “ये पहला मौका नहीं था जब मैने पहली बार दोहरी भूमिका निभाई है। मुझे पता था कि ये मेरे शरीर पर भारी पड़ेगा क्योंकि मैं रेगुलर विकेटकीपिंग नहीं करता हूं लेकिन आप टीम की जरूरत देखते हुए ये करते हो। मैने इसे चुनौती की तरह लिया और कड़ी मेहनत की। ये टीम का खेल है और आपको टीम की जरूरत के हिसाब से हर भूमिका निभाने के लिए तैयार रहना पड़ता है।”

पहली बार इंग्लैंड की जमीन पर क्रिकेट खेलने जा रहे राहुल को अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद है। इंग्लैंड में भी 2019 विश्व कप खेला जाना है, ऐसे में राहुल के लिए यहां के हालात और पिच में खुद को ढालने का ये अच्छा मौका होगा। इस बारे में बात करते हुए राहुल ने कहा, “जाहिर है कि विश्व कप में खेलना सभी का सपना होता है लेकिन इसमें अभी एक साल बाकी है। एक साल में बहुत कुछ हो सकता है। मैं केवल एक समय पर एक मैच पर ध्यान देना चाहता हूं और जिस फॉर्मेट में जो मौके मिलते हैं, उसका फायदा उठाना चाहता हूं। मैने इंग्लैंड में कभी क्रिकेट नहीं खेला है और पुराने मैच केवल टीवी पर देखे हैं। अगर आप भारत में खेलते हैं, आपको घरेलू स्थितियों को पता होता है लेकिन आप चुनौती लेना चाहते हैं। अगर आप इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में अच्छा प्रदर्शन करते हैं, इससे आपको अनुभव मिलेगा। हम टेस्ट सीरीज से पहले टी20 और वनडे सीरीज खेलेंगे और इससे हमे स्थिती में ढलने में मदद मिलेगी।”

टेस्ट क्रिकेट में यादगार पल के बारे में बात करते हुए राहुल ने कहा, “जब 2014 में सिडनी में मैने पहला टेस्ट शतक लगाया था तो मेरा नाम ऑनर्स बोर्ड पर लगा था। अगर मैं लॉर्ड्स पर शतक लगा पाया तो ये मेरे लिए यादगार पल होगा।”