Kuldeep Yadav: I am hoping for a Test call
Kuldeep yadav © Getty Images

भारतीय टीम के चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने नॉटिंघम वनडे में अपने वनडे करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। कुलदीप ने 10 ओवर के स्पेल में 25 रन देकर 6 विकेट लिए और इंग्लैड टीम को 268 पर रोका। मैन ऑफ द मैच रहे कुलदीप यादव अब टेस्ट जर्सी पहनना चाहते हैं।

हर क्रिकेटर इस खेल के सबसे लंबे और पुराने फॉर्मेट का हिस्सा बनना चाहता है और कुलदीप इससे अलग नहीं है। मैच के बाद कुलदीप ने कहा, “टेस्ट क्रिकेट की बात करें तो मैं बुलावे का इंतजार कर रहा हूं और देखते हैं कि जब कुछ ही दिनों में टेस्ट टीम का ऐलान होगा है तो क्या होता है।” बता दें कि कप्तान विराट कोहली ने भी इशारा किया है कि इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज के लिए टेस्ट टीम में कुछ हैरान करने वाले नाम शामिल होंगे।

इंग्लैंड को स्पिन के खिलाफ बल्लेबाजी में सुधार करने की जरूरत: इयोन मॉर्गन
इंग्लैंड को स्पिन के खिलाफ बल्लेबाजी में सुधार करने की जरूरत: इयोन मॉर्गन

कुलदीप ने अपने प्रदर्शन के बारे में बात करते हुए कहा, “मेरे लिए ये बड़ा दिन था। मेरी शुरुआती ओवर अच्छे रहे, किस्मत से मुझे पहले दो ओवरों में ही विकेट मिल गए।” छोटी बाउंड्री वाले ट्रेंट ब्रिज स्टेडियम को बल्लेबाजों के लिए स्वर्ग माना जाता है लेकिन ये बात कुलदीप को इस मैदान पर सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने से नहीं रोक सकी।

उन्होंने कहा, “मुझे इस बात से फर्क नहीं पड़ता कि मैदान छोटा है। शुरुआत में मुझे लगा था कि यहां काफी टर्न होगा लेकिन पहले ओवर के बाद मुझे समझ आ गया था कि मैं खेल में हूं। अगर मैं सही एरिया में वैरिएशन के साथ गेंदबाजी करता हूं तो बल्लेबाजों के लिए मुश्किल होगी ही, चाहे उन्होंने कितने ही वीडियो देखे हो”

पारी की शुरुआत में जेसन रॉय और जॉनी बियरस्टो ने इंग्लैंड को मजबूत शुरुआत दिलाई थी लेकिन कुलदीप ने 10 गेंदो में 5 रन देकर रॉय, बियरस्टो और फिर कप्तान इयॉन मॉर्गन को आउट कर विपक्षी टीम को बड़ा झटका दिया। कुलदीप ने कहा, “इस बात से फर्क नहीं पड़ता है कि सामने कौन बल्लेबाज है, मैं गेंदबादजी करते समय बल्लेबाज को नहीं देखता हूं।”

टी20 सीरीज के दौरान ये खबर सामने आई थी कि इंग्लैंड टीम एक खास बॉलिंग मशीन की मदद से कुलदीप के खिलाफ तैयारी कर रही है। इस बारे में युवा गेंदबाज ने कहा, “गेंदबाजी मशीन के साथ, आप हाथ या कलाई नहीं देख सकते हैं। इसलिए अगर आप हाथ से गेंद नहीं पढ़ रहे हैं तो ये बड़ी परेशानी है।”