Kuldeep Yadav will find it challenging to replicate white-ball performance: Alec Stewart
Kuldeep Yadav © AFP

बायें हाथ के कलाई के स्पिनर कुलदीप यादव ने इंग्लैंड के खिलाड़ियों में काफी दिलचस्पी पैदा कर दी है। पूर्व कप्तान एलेक स्टीवर्ट का मानना है कि अगर इस युवा को पहले टेस्ट के लिए अंतिम एकादश में रविचंद्रन अश्विन की जगह चुना जाता है तो टेस्ट मैच पूरी तरह से अलग तरह की चुनौती पेश करेगा।

स्टीवर्ट ने कहा, ‘‘मैं अश्विन का बड़ा प्रशंसक हूं और वह शानदार प्रदर्शन भी करता है। (रविंद्र) जडेजा को भी इंग्लैंड के खिलाफ कुछ अच्छी सफलता मिली है। लेकिन अगर कोई रहस्यमयी गेंद फेंकता है तो आप शायद उसको खिलाना चाहोगे। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘बतौर कप्तान विराट काफी सकारात्मक है और वह किसी आक्रामक गेंदबाज का समर्थन करेंगे। वह शायद यह सोचेगा कि कुलदीप के पास अश्विन या जडेजा की तुलना में विविध गेंदबाजी करने की काबिलियत है तो विराट यही फैसला करेगा। फिर कलाई के स्पिनर को प्रदर्शन करना होगा और लाल गेंद से भी यही प्रदर्शन दोहराना होगा जो उसने सफेद गेंद से किया है। वह इसके बारे में तब तक नहीं जानेगा जब तक उसे मौका नहीं दिया जायेगा। ’’

हालांकि स्टीवर्ट को लगता है कि जो रूट ने वनडे के दौरान कुलदीप की गेंदों का तोड़ निकालने में सफलता हासिल की जिससे वह टेस्ट सीरीज में भी फायदा उठायेंगे।

उन्होंने कहा, ‘‘रहस्यमयी स्पिनर से संशय पैदा होता है, अगर आपने उसका सामना ज्यादा नहीं किया है और तब क्रिकेट का मुकाबला दिलचस्प हो जाता है जब बल्लेबाज 18-22 गज की दूरी से यह पता करने की कोशिश करता है कि किस तरह इस गेंद को खेला जाये। लेकिन इंग्लैंड विशेषकर जो रूट ने लार्ड्स पर कुलदीप की गेंद को सुलझाना शुरू कर दिया था और सवाल है कि कुलदीप टेस्ट क्रिकेट में किस तरह गेंदबाजी करेगा। ’’