Kuldeep Yadav, Yuzvendra Chahal will be massive factor for us in World Cup, says Virat Kohli
कुलदीप यादव-युजवेंद्र चहल ©IANS

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज में लगातार शानदार प्रदर्शन कर भारतीय रिस्ट स्पिनर कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल ने हर तरफ से वाहवाही बटोरी है। केपटाउन में खेले गए तीसरे वनडे में दोनों गेंदबाजों ने कुल 8 विकेट लिए। तीसरा वनडे जीतने के साथ ही भारत ने सीरीज में 3-0 से अजेय बढ़त बना ली है। मैच के बाद मीडिया से बात करते हुए कप्तान विराट कोहली ने रिस्ट स्पिनरों की जमकर तारीफ की और उन्हें 2019 विश्व कप में भारत का एक्स फैक्टर बताया।

कोहली ने कहा, “वो हमेशा बल्लेबाजों से मुश्किल सवाल पूछते हैं, जो कि काबिले तारीफ है। मैंने पहले ऐसा कभी नहीं देखा है। उन्हें अपनी काबिलियत पर इतना विश्वास है कि वो हर ओवर में वो 2 विकेट निकाल सकते है, टीम को भी उनपर उतनी ही विश्वास है। हो सकता है अगले मैच में वो 70 के करीब रन लुटा दें लेकिन इसमें कोई परेशानी नहीं है क्योंकि वो हर मैच में 2-3 विकेट निकाल लेते हैं। इस तरह की स्थितियों में आगे खेलना और फिर विश्व कप भी हम विदेशी जमीन पर खेलेंगे, ऐसे में ये हमारे लिए बड़ा फैक्टर साबित हो सकते हैं।”

कोहली ने बताया कि चूंकि ये दोनों ही रिस्ट स्पिनर घरेलू फ्लैट पिचों पर गेंदबाजी कर चुके हैं, इस वजह से वो दक्षिण अफ्रीकी पिचों पर अतिरिक्त उछाल और टर्न का फायदा उठा पा रहे हैं। कप्तान ने कहा, “हम जानते हैं कि वो विकेट निकाल लेंगे क्योंकि रिस्ट स्पिनरों ने घर पर सपाट पिचों पर गेंदबाजी की है। चूंकि ये गेंदबाज टी20 क्रिकेट ज्यादा खेलें हैं, जहां पर हालात काफी ज्यादा मुश्किल होते हैं और उन्होंने वहां भी लगातार अंतराल पर विकेट निकाले हैं। यहां कि पिचों पर वो ज्यादा बेहतर कर पा रहे हैं क्योंकि उन्हें यहां पर उछाल मिल रहा है। आखिरी के ओवरों में पिच काफी धीमी हो जाती है तो अच्छा खासा टर्न भी मिलता है।” बता दें कि कुलदीप यादव ने कुछ ही दिन पहले एक इंटरव्यू के दौरान कहा था कि उन्होंने सीमेंट की पिच पर गेंदबाजी का अभ्यास करना शुरू किया था। ऐसे में उन्हें इन पिचों पर मुश्किल नहीं हो रही है। चहल का भी कुछ यही मानना है।

आक्रामकता के बिना बल्लेबाजी नहीं कर सकते विराट कोहली
आक्रामकता के बिना बल्लेबाजी नहीं कर सकते विराट कोहली

कोहली ने आगे कहा, “जब उन्हें पिच से मदद मिलती है तो वो अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हैं लेकिन सपाट पिचों पर भी वो काफी बहादुरी से गेंदबाजी करते हैं। रिस्ट स्पिनरों नें खेल में काफी बदलाव किया है। वो एक ओवर में 6 रन दे सकते हैं, हमे पता है कि इस बीच को 3-4 विकेट निकाल सकते हैं। पिछले दो मैचों में उनका प्रदर्शन शानदार रहा है।” कुलदीप और चहल के शानदार प्रदर्शन की तकनीक के बारे में बात करते हुए कोहली ने कहा, “ये बहुत साधारण है, उन्हें हमेशा विकेट लेने के बारे में कहा जाता है। जब आप विकेट लेने जाते हो तो आप उन एरिया में गेंदबाजी करते हो जहां खेलने में बल्लेबाजों को आसानी होती है। जब आप रन बचाने के लिए बल्लेबाज से दूर गेंदबाजी करते हो तो आप उन्हें एक-दो रन बनाने का मौका देते हो। इसलिए मेरा मानना है कि उन्हें पूरा श्रेय मिलना चाहिए क्योंकि उन्हें अपनी लाइन और लेंथ पर मजबूत पकड़ बनाई है।”