Mahendra Singh Dhoni conferred with the prestigious Padma Bhushan
महेंद्र सिंह धोनी © Getty Images

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी  को आज भारत सरकार की तरफ से तीसरे सबसे बड़े नागरिक अवार्ड पद्म भूषण से नवाजा गया है। धोनी इस सम्मान को हासिल करने वाले 11वें क्रिकेटर होंगे। धोनी को ये अवार्ड खेल जगत में उनके योगदान के लिए दिया गया है। धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया ने 2007 टी20 विश्व कप, 2011 वनडे विश्व कप और 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी जीती है। धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया टेस्ट में नंबर वन भी बनी थी।

धोनी को इस सम्मान के लिए नामांकित करते समय बीसीसीआई के कार्यकारी अध्यक्ष सीके खन्ना ने उन्हें सबकी पसंद बताया था। खन्ना ने क्रिकबज को दिए बयान में कहा था कि, “सभी सदस्यों ने सर्वसम्मति से ये फैसला लिया है। वो क्रिकेट जगत के सबसे महान नामों में से एक है और भारतीय क्रिकेट बोर्ड की सबसे पहली पसंद है। धोनी वनडे के दिग्गज खिलाड़ियों में से एक है जिसके नाम वनडे में 10,000 से भी ज्यादा रन हैं। बहुत ज्यादा खिलाड़ियों ने 90 टेस्ट मैच नहीं खेले हैं। उनसे बेहतर कोई नहीं है, जिसे इस अवॉर्ड के लिए नामांकित किया जा सकता है।”

धोनी के अलावा विश्व चैंपियन क्यूइस्ट पंकज आडवाणी को भी पदम भूषण से अलंकृत किया गया। इन दोनों के अलावा 2017 विश्व भारोत्त्तोलन चैंपियनशिप में महिलाओं के 48 किग्रा में स्वर्ण पदक जीतने वाली सैखोम मीराबाई चानू और एशियाई खेलों के पूर्व स्वर्ण पदक विजेता टेनिस खिलाड़ी सोमदेव देववर्मन को पदमश्री से अलंकृत किया गया। पुरूष एकल बैडमिंटन खिलाड़ी किदाम्बी श्रीकांत और भारत के पहले परालंपिक स्वर्ण पदक विजेता मुरलीकांत पाटकर को भी पदमश्री सम्मान मिला है।