Mark Waugh won’t think twice before selecting Steven Smith, David Warner, Cameron Bancroft
मार्क वाॅॅ (फाइल फोटो) © Getty Images

बॉल टेंपरिंग विवाद के बाद क्रिकेट ऑस्‍ट्रेलिया ने पूर्व कप्‍तान स्‍टीवन स्मिथ, पूर्व उपकप्‍तान डेविड वार्नर को एक साल के लिए क्रिकेट से बैन कर दिया। इसी तरह सेंडपेपर से बॉल से छेड़छाड़ करते कैमरे में कैद हुए बल्‍लेबाज कैमरून बैनक्रॉफ्ट को नौ महीने के लिए बैन किया गया। कैमरे के सामने फूट-फूट कर अपनी गलती मानते हुए वार्नर, स्‍मिथ के चेहरे तो सबको ही याद होंगे। ऑस्‍ट्रेलिया क्रिकेटर एसोसिएशन सहित कई विदेशी खिलाड़ी इस बैन को काफी सख्‍त मानते हुए इसमें ढील दिए जाने की बात कह चुके हैं। इस कड़ी में अब एक नया बयान आया है। ये बयान ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व सलामी बल्‍लेबाज और मौजूदा समय में राष्‍ट्रीय टीम के चयनकर्ता मार्क वॉ की तरफ से आया है।

आखिरी टी-20 मैच में वेस्‍टइंडीज को आठ विकेट से हरा पाकिस्‍तान ने क्‍लीन स्‍वीप की सीरीज
आखिरी टी-20 मैच में वेस्‍टइंडीज को आठ विकेट से हरा पाकिस्‍तान ने क्‍लीन स्‍वीप की सीरीज

मार्क वॉ ने स्‍काई स्‍पोर्ट्स रेडियो से बातचीत के दौरान कहा, “इन खिलाड़ियों पर बैन खत्‍म होते ही मैं इन्‍हें दोबारा टीम में जगह देने से पहले एक बार भी नहीं सोचूंगा। इन खिलाड़ियों ने गलती की है। हर कोई इंसान गलती कर सकता है। ये अपनी गलती स्‍वीकार भी कर चुके हैं। ऑस्‍ट्रेलिया क्रिकेट के लिए ये मुश्किल दौर है। हमें इसे उबर कर बाहर आना होगा।” वॉ ने आगे कहा, “उन्‍होंने जो गलती की है वो उसके लिए भारी कीमत चुका रहे हैं, लेकिन मेरा मानना है कि ये तीनों शानदार खिलाड़ी हैं। मौजूदा समय में ऑस्‍ट्रेलिया क्रिकेट बुरे दौर से गुजर रहा है। तीनों की टीम में जगह बनती है। ऐसे में जब वो बैन खत्‍म होने के बाद आएंगे तो उन्‍हें टीम में लेने से पहले मैं जरा भी संकोच नहीं करुंगा। हमें इन खिलाड़ियों को दोबारा मैदान में लाना ही होगा। इन्‍हें दूसरा मौका मिलना चाहिए। मै उम्‍मीद करता हूं कि वो टीम में वापसी कर पाएंगे।”

मार्क वाॅ  का बयान उस समय आया है जब ऑस्‍ट्रेलिया की टीम तीनों खिलाड़ियों पर बैन लगने के बाद खेले गए टेस्‍ट सीरीज के आखिरी मैच में 492 रन से हार गई। ये ऑस्‍ट्रेलिया क्रिकेट के इतिहास में अबतक की सबसे शर्मनाक हार है, जबकि दक्षिण अफ्रीका  की ये अबतक की सबसे बड़ी जीत है। दक्षिण अफ्रीका ऑस्‍ट्रेलिया को 48 साल बाद टेस्‍ट सीरीज हरा पाने में कामयाब हुई है।