MCA asks Ajit Agarkar to pick between Chief of Cricket Improvement Committee and chairman of senior selection committee
Ajit Agarkar © Getty Images

मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन की प्रशासक समिति ने लोढ़ा समिति की सिफारिशों को लागू करने की शुरुआत की है और इसके पहले शिकार पूर्व क्रिकेटर अजीत अगरकर बने हैं। इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबकि जस्टिस हेमंत गोखले और जस्टिस कनडे वाली प्रशासक समिति ने ‘एक आदमी-एक पद’ की नीति के तहत अगरकर से क्रिकेट सुधार समिति के चीफ और वरिष्ठ चयन समिति के अध्यक्ष में से एक पद चुनने को कहा है। सुप्रीम कोर्ट के मुताबिक अगरकर दोनों पदों पर नहीं रह सकते हैं।

टीम इंडिया ने दिखाई खेल भावना, अफगान टीम को दिया ट्रॉफी के साथ फोटो का मौका
टीम इंडिया ने दिखाई खेल भावना, अफगान टीम को दिया ट्रॉफी के साथ फोटो का मौका

खबर के मुताबिक अगरकर वरिष्ठ चयन समिति के अध्यक्ष पद पर रहने के लिए क्रिकेट सुधार समिति का पद छोड़ने को तैयार है। क्रिकेट सुधार समिति एमसीए को टीम से जुड़े अहम फैसले लेने में मदद करती है। साथ ही ये समिति कोच, ट्रेनर, फीजियो और चयनकर्ताओं की नियुक्ति के मामलों पर भी ध्यान देती है। अगरकर के सुधार समिति छोड़ने के बाद इस टीम में केवल पूर्व भारतीय कप्तान अजीत वाडेकर और अमोल मजूमदार रह जाएंगे। प्रशासकों की समिति ने एमसीए के ज्वाइंट सेक्रेटरी डॉक्टर उनमेश खानविल्कर से इस सुधार समिति में तीन और सदस्यों को नियुक्त करने की मांग की है।

सुधार समिति के सामने फिलहाल सबसे बड़ा काम मुंबई रणजी टीम के कोच की नियुक्ति का है। समीर दिघे के अपना कार्यकाल बढ़ाने से इंकार करने के बाद एमसीए नए कोच की तलाश में है। सीओए और सुधार समिति के सलाह के बाद एमसीए कोच पद के लिए आवेदन लेना शुरू कर देगा।