MCC World Cricket Committee consider introducing shot clock system
Virat Kohli, James Anderson © Getty Images

आईसीसी का पिछले 11 साल का क्रिकेट का डाटा बताता है कि टेस्‍ट क्रिकेट में ओवर रेट इस वक्‍त सबसे स्‍लो है। टेस्‍ट ही नही बल्कि टी-20 में भी ओवर रेट अपने इतिहास के सबसे निचले स्‍थान पर है। कोई भी टीम निर्धारित समय में अपने ओवर के कोटे को पूरा नहीं कर पाती। जिसके कारण मैच तय समय से आगे खिंच रहे हैं।

शानदार गेंदबाजी पर राहुल द्रविड़ बोले परिवक्‍व हुए मोहम्‍मद सिराज
शानदार गेंदबाजी पर राहुल द्रविड़ बोले परिवक्‍व हुए मोहम्‍मद सिराज

शॉट क्‍लॉक से समय पर खत्‍म होगा मैच

इस समस्‍या से निजात दिलाने के लिए आईसीसी को सुझाव देने वाले मेर्लिबोन क्रिकेट क्‍लब (MCC) वर्ल्‍ड क्रिकेट कमेटी ने क्रिकेट में शॉर्ट क्‍लाॅक लाने की वकालत की है। कमेटी में भारतीय टीम के पूर्व कप्‍तान सौरव गांगुली के अलावा, रिकी पोंटिंग, जॉन स्टीफनसन हैं। मंगलवार को लंदन में कमेटी के सदस्‍यों कि आईसीसी चीफ डेविड रिचर्डसन और फेड्रेशन ऑफ इंटरनेशनल क्रिकेट एसोसिएशन (FICA), और ईसीबी के सदस्‍यों के साथ बैठक हुई।

गेंदबाजों और बल्‍लेबाजों को समयबद्ध करने के लिए प्‍लान

बैठक में बाद रिकी पोंटिंग ने कहा, “हमने क्रिकेट में शॉट क्‍लॉक लाने पर चर्चा की। इसका मकसद मैच के दौरान डेड टाइम यानी फिजूल में व्‍यर्थ किए जाने वाले समय को खत्‍म करना है। हम चाहते हैं कि ओवर खत्‍म होने के बाद तुरंत ही गेंदबाज और फील्डर अपनी अपनी जगह पर पहुंच जाए। इसी तरह एक बल्‍लेबाज के आउट होने के बाद दूसरे बल्‍लेबाज को भी निश्चित समय मे मैदान पर आना होगा। खिलाड़ी को तय समय में अपनी जगह पर पहुंचना ही होगा।”

कप्‍तान पर जुर्माने का प्रावधान

रिकी पोंटिंग ने कहा, “हमने शॉट क्‍लॉक के नियम का पालन नहीं करने पर कई स्‍तर पर कप्‍तान पर जुर्माना लगाने को लेकर चर्चा की। अभी हम इसे लेकर किसी निष्कर्ष पर नही पहुंचे हैं। हमें लगता है कि कप्‍तान शॉट क्‍लॉक का नियम लागू होने के बाद मैच टाइम पर खत्‍म करना सुनिश्चित करेगा। बताया गया कि आईसीसी उनके सुझावों पर गंभीरता से विचार कर रही है।