Michael Holding: Cheteshwar Pujara should be given a chance in Lord’s test
Cheteshwar Pujara (File Photo) © AFP

बर्मिंघम में खेले गए पांच मैचों की टेस्‍ट सीरीज के पहले मुकाबले में भारतीय टीम को 31 रनों से हार का सामना करना पड़ा। दोनों ही पारियों में कप्‍तान विराट कोहली के अलावा कोई भी बल्‍लेबाज नहीं चल सका। हार के बाद सवाल उठने लगे है कि चेतेश्‍वर पुजारा को प्‍लेइंग इलेवन में शामिल क्‍यों नहीं किया गया। आकड़े बताते हैं कि पुजारा की मौजूदगी में भारतीय टीम 57 प्रतिशत मैच जीतती है। जबकि उनकी गैर मौजूदगी में जीत का आकड़ा गिरकर 26 प्रतिशत रह जाता है।

दक्षिण अफ्रीका ने लगातार तीन मैच जीतकर सीरीज पर किया कब्‍जा
दक्षिण अफ्रीका ने लगातार तीन मैच जीतकर सीरीज पर किया कब्‍जा

पुजारा की जगह केएल राहुल को मिला मौका

पुजारा इन दिनों खराब फॉर्म से गुजर रहे हैं। वो इंग्‍लैंड में काउंटी क्रिकेट में लगातार फ्लॉप रहे हैं। इसके अलावा दक्षिण अफ्रीका दौरे पर भी पुजारा का बल्‍ला शांत ही रहा था। ऐसे में कप्‍तान विराट कोहली ने पुजारा की जगह केएल राहुल को टीम में जगह दी।

माइकल होल्डिंग ने उठाए सवाल

80 के दशक में वेस्‍टइंडीज के घातक गेंदबाज रहे माइकल होल्डिंग का कहना है कि पुजारा काफी शानदार बल्‍लेबाज है। पिछले कुछ समय से वो फॉर्म में नहीं है, लेकिन क्‍या कोहली की फॉर्म खराब होती तो उन्‍हें बाहर बैठा दिया जाता। मैं मानता हूं कि पुजारा कोहली जितना बेहतर नहीं है। क्‍यां राहुल द्रविड़, वीवीएस लक्ष्‍मण और सोरव गांगुली जैसे बल्‍लेबाज फॉर्म से बाहर होंगे तो उन्‍हें टीम से निकाल दिया जाएगा।

हार्दिक पांड्या ने नहीं किया उम्‍मीद के मुताबिक प्रदर्शन

स्‍काई स्‍पोर्ट्स से बातचीत के दौरान होल्डिंग ने कहा, “एसेक्‍स के खिलाफ प्रैक्टिस मैच में शिखर धवन फेल रहे। फिर भी उन्‍हें बर्मिंघम टेस्‍ट में मौका मिला। केएल राहुल पर भी कप्‍तान ने विश्‍वास दिखाया है।” होल्डिंग ने कहा, “हार्दिक पांड्या की तुलना कपिल देव से की जा रही थी, लेकिन वो अबतक खुद को साबित नहीं कर पाए हैं। लॉर्ड्स में होने वाले दूसरे टेस्‍ट मैच में पांड्या को बाहर कर पुजारा को टीम में शामिल किया जाना चाहिए।” होल्डिंग ने 60 टेस्‍ट मैचों मे 249 विकेट अपने नाम किए हैं।