Micheal Hussy: It’s a shame Virat Kohli couldn’t play county, It would have helped him a lot
Virat Kohli © IANS

इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज की खास तैयारी के लिए भारतीय कप्तान विराट कोहली ने काउंटी टीम सर्रे के साथ क्रिकेट खेलने का करार किया था। हालांकि आईपीएल के दौरान कंधे में लगी चोट की वजह से वो काउंटी क्रिकेट खेलने इंग्लैंड नहीं जा सके। अब जबकि टेस्ट सीरीज शुरू होने में केवल दो दिन रह गए हैं तो पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर माइकल हसी ने कोहली को परेशान करने वाला बयान दिया है। हसी ने कहा, ” ये काफी शर्म की बात है कि वो चोटिल हो गया और काउंटी खेलने नहीं जा सका। इससे उसे काफी मदद मिलती।”

कुलदीप यादव की जगह अश्विन को तरजीह मिलनी चाहिए: माइकल हसी
कुलदीप यादव की जगह अश्विन को तरजीह मिलनी चाहिए: माइकल हसी

क्रिकबज से बातचीत में कोहली के प्रदर्शन के बारे में बात करते हुए हसी ने कहा, “मुझे यकीन है कि विराट ने 2014 टेस्ट सीरीज से काफी कुछ सीखा है और वो अनुभव अब उसके काम आएगा। वो हमेशा की तरह दृढ़ निश्चय के साथ खेलेगा। वो किस तरह पारी की शुरुआत करेगा, इस पर सब निर्भर करेगा। अगर उसे आत्मविश्वास मिलता है और वो क्रीज पर कुछ समय बिताया है तो इससे उसे मूमेंटम हासिल होगा। एक बार उसे आत्मविश्वास मिल गया तो उसे रोकना मुश्किल होगा।”

स्टुअर्ट ब्रॉड-जेम्स एंडरसन को कम ना आंके

हसी का कहना है कि टीम इंडिया के ये सीरीज जीतने की अच्छी संभावना है। हालांकि इसके लिए उन्हें बोर्ड पर बड़े रन लगाने होंगे। हसी ने कहा कि अगर भारतीय बल्लेबाज बड़े स्कोर बनाते हैं तो इंग्लैंड पर दबाव बनेगा लेकिन उन्हें इंग्लिश पेस अटैक से बचना होगा। इंग्लैंड के सीनियर तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड और जेम्स एंडरसन के बारे में बात करते हुए हसी ने कहा, “आप उन्हें कम आंक रहे हैं। वो लंबे समय से चैंपियन गेंदबाज हैं। कभी भी चैंपियन गेंदबाज को कम नहीं आंकना चाहिए। मैने ऐसा पहले भी देखा है, जब लोगों ने बड़े खिलाड़ियों को कम आंका है और उन्होंने हमेशा वापसी की है।” एंडरसन के खिलाफ बल्लेबाजों के गेम प्लान के बारे में हसी ने कहा कि हर बल्लेबाज का रिवर्स स्विंग से निपटने के तरीका अलग होता है, ऐसे में इसका कोई एक जवाब नहीं है।

कौन होगा टीम इंडिया का सबसे प्रभावी गेंदबाज

हसी से जब ये पूछा गया कि कौन सा भारतीय तेज गेंदबाज इस सीरीज में प्रभावी साबित हुए तो उन्होंने कहा, “मैं शायद बुमराह का नाम लेता लेकिन वो चोटिल है, भुवनेश्वर के साथ भी यही बात है। लेकिन मैं हमेशा से उमेश यादव का प्रशंसक रहा हूं और मुझे मालूम है कि उसका प्रदर्शन ऊपर-नीचे होता रहता है। लेकिन मुझे लगता है कि अपने करियर के इस पड़ाव पर वो खेल को अच्छी तरह से समझता है। हमे आईपीएल में उनका लगातार अच्छा प्रदर्शन देखा और मुझे उम्मीद है कि वो टेस्ट मैच में इसे बरकरार रखेगा।”

हसी ने आगे कहा, “मेरा ये भी मानना है कि मोहम्मद शमी भी अच्छा गेंदबाज है। अगर वो फिट रहता है और खेल में लगातार गेंदबाजी करता है तो वो भी प्रभाव डाल सकता है। भारतीय टीम इन पर काफी निर्भर करेगा। ईशांत शर्मा भी वहां है। उनके पास अच्छे गेंदबाज हैं लेकिन वो अपने दो सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज भुवी और बुमराह बाहर हैं। वो दोनों हर फॉर्मेट में शानदार गेंदबाजी करते हैं और उनकी कमी पूरी करना मुश्किल होगा।”