Mickey Arthur hopes Steve Smith and David Warner get chance to play county cricket
Mickey Arthur © Getty Images

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कोच और अब पाकिस्तान क्रिकेट टीम की कोचिंग का जिम्मा संभाल रहे मिकी आर्थर ने बॉल टैंपरिंग मामले में खिलाड़ियों के प्रति सहानभूति जताई है। पाक कोच ने स्टीव स्मिथ, डेविड वार्नर और कैमरून बेनक्राफट को क्रिकेट के मैदान पर वापसी करने की इजाजत देने की उम्मीद जताई है।

मिकी आर्थर का मानना है कि बाल बॉल टैंपरिंग में प्रतिबंधित किए गए ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों स्टीव स्मिथ, डेविड वार्नर और कैमरून बेनक्राफट को काउंटी क्रिकेट में खेलने का मौका मिलना चाहिए।
क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) ने बाल टेम्परिंग मामले में स्मिथ और वार्नर पर पिछले महीने एक-एक साल का प्रतिबंध लगा दिया था। बेनक्राफ्ट पर नौ महीने का प्रतिबंध लगाया गया है। इन खिलाड़ियों ने मार्च में दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर गेंद से छेड़छाड़ की थी।

वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइन्फो ने आर्थर के हवाले से लिखा, “मैं समझ सकता हूं कि वे बहुत ही मूर्ख थे लेकिन उन्होंने इसके लिए बड़ी कीमत चुकाई है। स्टीव इस सजा से बहुत दुखी होंगे। बेनक्राफ्ट और डेविड के लिए सजा को सहन करना मुश्किल होगा। यदि इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) उन्हें खेलने की इजाजत देता है, तो यह उनके लिए अच्छा होगा।”

वर्ष 2010 से 2013 तक ऑस्ट्रेलियाई टीम के कोच रहे आर्थर को उम्मीद है कि प्रतिबंधित किए गए इन खिलाड़ियों को फिर से अपना करियर शुरु करने के लिए काउंटी क्रिकेट में खेलने का मौका दिया जाएगा।