मोहम्मद हफीज © Getty Images
मोहम्मद हफीज © Getty Images

भले ही पाकिस्तान टीम लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रही हो और श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज अपने नाम कर चुकी हो लेकिन टीम के प्रशंसकों के लिए अच्छी खबर नहीं है। पाकिस्तान के ऑलराउंडर खिलाड़ी मोहम्मद हफीज के गेंदबाजी एक्शन को फिर से संदिग्ध पाया गया है। ये उनके करियर में कुल तीसरा मौका है जब उनके खिलाफ संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन की शिकायत की गई है। श्रीलंका के खिलाफ तीसरे वनडे के दौरान हफीज के गेंदबाजी एक्शन को संदिग्ध पाया गया। अब हफीज को 14 दिनों के अंदर एक्शन टेस्ट देना होगा।

हालांकि जब तक टेस्ट का रिजल्ट नहीं आ जाता तब तक हफीज गेंदबाजी कर सकेंगे। अगर हफीज का गेंदबाजी एक्शन आईसीसी के नियमों के मुताबिक नहीं पाया जाता तो उनके गेंदबाजी करने पर बैन लग सकता है। तीसरे वनडे के बाद आईसीसी ने अपने बयान में कहा, ”मैच अधिकारियों ने पाकिस्तान टीम को रिपोर्ट सौंप दी है। रिपोर्ट में 37 साल के हफीज के गेंदबाजी एक्शन को संदिग्ध पाया गया है।” ये कोई पहला मौका नहीं है जब हफीज संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन के दोषी पाए गए हैं। इससे पहले दिसंबर 2014 में हफीज पर गेंदबाजी करने पर बैन लग गया था।

हफीज पर ये बैन लगभग पांच महीने तक रहा था हालांकि अप्रैल 2015 में हफीज को दोबारा गेंदबाजी करने की मंजूरी मिल गई थी। कुछ ही महीनों के बाद श्रीलंका के खिलाफ पहले टेस्ट में हफीज का गेंदबाजी एक्शन फिर से संदिग्ध पाया गया और उनपर लगभग एक साल का बैन लग गया था। इसके बाद हफीज को नवंबर 2016 में फिर से गेंदबाजी करने की हरी झंडी मिल गई थी लेकिन अब फिर से श्रीलंका के खिलाफ उनके एक्शन को संदिग्ध पाया गया है। अगर हफीज टेस्ट में पास नहीं होते तो उन्हें फिर से बैन झेलना पड़ सकता है। हफीज के नाम 50 टेस्ट में 52, 193 वनडे में 136 और 78 टी20 में 46 विकेट हैं।