मोहम्मद इरफान © AFP
मोहम्मद इरफान © AFP

स्पॉट फिक्सिंग मामले में छह महीने का बैन लगने के बाद पाकिस्तान के तेज गेंदबाज मोहम्मद इरफान की नजरें अब श्रीलंका के खिलाफ अगले महीने खेली जाने वाली टी-20 सीरीज के जरिए टीम में वापसी करने पर हैं। इरफान पर आरोप है कि उन्होंने पाकिस्तान सुपर लीग में सट्टेबाज द्वारा संपर्क किए जाने की जानकारी पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को नहीं दी थी। इसी कारण बोर्ड ने उन पर 6 महीने का बैन लगा दिया था, जो गुरुवार को खत्म हो गया।

पाकिस्तान के अखबार द डॉन ने इरफान के हवाले से लिखा है, “मेरी कोशिश श्रीलंका के खिलाफ खेली जाने वाली टी-20 सीरीज में वापसी की है जिसका आखिरी मैच लाहौर में खेला जाएगा।” सात फुट एक इंच लंबे इस खिलाड़ी पर शुरुआत में बोर्ड ने एक साल का बैन के साथ ही एक हजार डॉलर का जुर्माना लगाया था। इसके अलावा बोर्ड ने उनके सभी करारों को भी रद्द कर दिया था। बाद में उन्हें बताया गया था कि उनका प्रतिंबध कम हो सकता है अगर वह बैन के समय लागू होने वाले नियमों को मानें। इरफान ने ठीक वैसा ही किया और वह अब खेलने को तैयार हैं। [ये भी पढ़ें: पाकिस्तान ने जीता इंडपेंडेंस कप, फाइनल में वर्ल्ड इलेवन को 33 रनों से हराया]

वर्ल्ड इलेवन के खिलाफ तीन टी-20 मैचों की सीरीज में टीम में ना चुने जाने से वह निराश हैं। उन्होंने कहा, “उस समय जब अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट की घर में वापसी हो रही थी तब बैन की वजह से मैं इस ऐतिहासिक मैच हिस्सा नहीं बन पाया।” उन्होंने कहा, “अपने घर में घरेलू दर्शकों के सामने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेलना मेरा सपना था और मैं इस बात से दुखी हूं कि जब यह सब हो रहा था तभी मैं मैच का हिस्सा नहीं बन पाया।”

अपने प्रतिबंध के अंत की औपचारिक घोषणा को लेकर इरफान ने कहा, “पीसीबी के सभी अधिकारी इस समय विश्व एकादश में व्यस्त हैं। मैं उनसे फोन पर बात करूंगा और वह मुझे मिलने का समय और आधिकारिक पत्र देंगें जिसके बाद में दोबारा से क्रिकेट खेलने के लिए स्वतंत्र रहूंगा।”