नाथन लायन © Getty Images
नाथन लायन © Getty Images

ऑस्ट्रेलिया के स्पिन गेंदबाज नाथन लायन ने इंग्लैंड के खिलाफ एक बड़ी उपलब्धि हासिल कर ली। इस उपलब्धि को हासिल करने के साथ ही लायन ने ऑस्ट्रेलिया के 12 साल के सूखे को भी खत्म कर दिया। दरअसल, लायन के नाम मौजूदा कैलेंडर ईयर में 50 विकेट हो गए हैं और वो शेन वॉर्न के बाद इस कारनामे को अंजाम देने वाले ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर बन गए हैं। लायन से पहले वॉर्न ने 2005 में एक कैलेंडर ईयर में 96 विकेट हासिल किए थे। अब लायन ने 2005 और वॉर्न के बाद इस उपलब्धि को हासिल कर इतिहास के सुनहरे पन्नों में अपना नाम दर्ज करा लिया है।

लायन ने पहले टेस्ट की दूसरी पारी में खबर लिखे जाने तक 2 विकेट लेकर इंग्लैंड को बैकफुट पर धकेल दिया। लायन ने पहले मार्क स्टोनमैन (27) और फिर डेविड मलान (4) को आउट कर इंग्लैंड की कमर तोड़ कर रख दी। इन दो विकेट लेने के साथ ही लायन के नाम अब वो रिकॉर्ड हो गया जो वॉर्न के बाद ऑस्ट्रेलिया का कोई भी स्पिनर अपने नाम नहीं कर सका। लायन के लिए ये उपलब्धि इसलिए भी खास है क्योंकि इसे उन्होंने दुनिया की सबसे पुरानी और ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज ‘एशेज’ में हासिल किया है।

लायन ने अब तक ऑस्ट्रेलिया के लिए 70 टेस्ट मैच खेले हैं। इस दौरान उन्होंने 31.83 के औसत से 273 विकेट हासिल किए हैं। लायन का बेस्ट पारी में 50 रन देकर 8 और मैच में 154 रन देकर 13 विकेट रहा है। इसके अलावा लायन 3 बार 5 विकेट और 1 बार 10 विकेट भी ले चुके हैं। वहीं इंग्लैंड के खिलाफ लायन ने 14 मैचों में 30 के औसत से 48 विकेट अपने नाम किए हैं।