Nidahas Trophy 2018: Bangladesh celebrate win over Sri Lanka with Nagin Dance
फोटो साभार © ट्विटर

वैसे नाचना गाना और मस्‍ती करना किसी देश की जागीर नहीं हो सकती, लेकिन बात जब नागिन डांस की होती है तो इसपर भारत का कॉपी राइट माना जाता है। इस डांस की उत्‍पत्ति भारत में हुई है। अकसर शादी- पार्टी के मौके पर गांव देहात में बच्‍चे, बुजुर्ग इस डांस को करते हुए नजर आ जाते हैं। अब ये नागिन डांस हमारे पड़ोसी देश श्रीलंका और बांग्‍लादेश में भी अच्‍छे से रच बस गया है। दोनों टीमों के बीच खेले गए दोनों मुकाबले बेहद रोमांच और कांटे की टक्‍कर वाले रहे। दोनों ही मुकाबलों में श्रीलंका और बांग्‍लादेश के खिलाडि़यों ने अच्‍छे से नागिन डांस का लुत्‍फ उठाया।

निदास ट्रॉफी 2018 के छठे मैच में शुक्रवार को बांग्‍लादेश और श्रीलंका के बीच तनाव इस कदर बढ़ गया कि एक वक्‍त को ऐसा लगा कि बांग्‍लादेश की टीम मैच पूरा किए बिना ही वापस लौट जाएगी। दरअसल, ये मामला एक नौ बॉल को लेकर था। आखिरी ओवर में लेग अंपायर द्वारा नौ बॉल दिए जाने के बाजवूद इसपर अमल नहीं करने को लेकर बांग्‍लादेश के कप्‍तान शाकिब अल हसन ने अपनी टीम के बल्‍लेबाजों को मैदान छोड़कर वापस आने तक के निर्देश दे डाले। हालांकि अंपायरों के समझाने के बाद मैच एक बार फिर शुरू हुआ और मेहमदुल्‍लाह की आतिशी बल्‍लेबाजी की मदद से आखिरी ओवर में एक गेंद शेष रहते ही बांग्‍लादेश ने ये मैच जीत लिया।

मैच जीतते ही बांग्‍लादेश के सारे खिलाड़ी मैदान में आ गए। सभी जीत का जश्‍न मनाने लगे। इस दौरान श्रीलंका की टीम को चिढ़ाने के लिए वो मैदान पर ही नागिन डांस करने लगे। प्रेमदासा स्‍टेडियम में बैठे दर्शकों ने इसका खूब लुत्‍फ उठाया। ऐसा नहीं है कि केवल बांग्‍लादेश के खिलाड़ियों ने ही इस सीरीज के दौरान नागिन डांस किया हो। इससे पूर्व श्रीलंका के खिलाड़ी भी मैदान पर नागिन डांस करते हुए नजर आए हैं।