Nidahas Trophy 2018: Indian team is strong but we are in rhythm, says Shakib Al Hasan
शाकिब अल हसन © Getty Images (File Photo)

भारत के खिलाफ टी20 ट्राई सीरीज के फाइनल से पहले बांग्लादेश के कप्तान शाकिब अल हसन ने कहा है कि करीबी मुकाबले में श्रीलंका को हराने के बाद उनकी टीम लय में है। बांग्लादेश ने श्रीलंका को बेहद ही रोमांचक मुकाबले में दो विकेट से हराकर फाइनल में जगह पक्की की है। ये मैच दोनों टीमों के लिए सेमीफाइनल की तरह था। शाकिब ने कहा, ‘‘ भारतीय टीम काफी अच्छी है लेकिन हम लय में हैं, उम्मीद है कि हम अपने प्रदर्शन को जारी रखेंगे।’’

निदाहास ट्रॉफी 2018: भारत-बांग्लादेश फाइनल टी20 मैच में बन सकते हैं ये बड़े रिकॉर्ड
निदाहास ट्रॉफी 2018: भारत-बांग्लादेश फाइनल टी20 मैच में बन सकते हैं ये बड़े रिकॉर्ड

श्रीलंका के खिलाफ पिछले मुकाबले के बारे में बात करते हुए शाकिब ने कहा, ‘‘टी20 मैच में आप इससे ज्यादा उम्मीद नहीं कर सकते, वहां सब कुछ था भावनाएं, नाटक, सब कुछ। हम भाग्यशाली थे कि इसे जीत सके। कुसल परेरा और थिसारा परेरा ने बहुत अच्छी बल्लेबाजी की और टीम को ऐसी स्थिति में ले आए जहां से वे जीत सकते थे। मुझे पता था कि मैं अपना 100 प्रतिशत नहीं दे पाऊंगा, इसलिए जरूरी था कि मैं महमदुल्लाह को स्ट्राइक दूं। अंतिम पांच ओवरों को देखा जाए तो ये हमारी सर्वश्रेष्ठ पारियों में से एक थी।’’ महमदुल्लाह ने 18 गेंद में 43 रन की मैच विजयी पारी खेली और मैन ऑफ द मैच रहे।

महमदुल्लाह ने इसे अपनी सबसे बेहतरीन पारियों में से एक बताया। मैच के बाद उन्होंने कहा, “जब शाकिब टीम में आए तो वो खिलाड़ियों के लिए बड़ी राहत की बात थी। मेरी योजना गेंद को ज्यादा से ज्यादा हिट करने की थी। गेंद को ठीक से देखना और फिर उसी हिसाब से हिट करना था। आखिरी के ओवरों में मैं काफी नर्वस था। जब मैं और शाकिब क्रीज पर थे, मैं आराम में था लेकिन शाकिब का विकेट गिरने के बाद मुझ पर दबाव आ गया। दूसरे खिलाड़ी मेरे पास आए और विश्वास दिलाया कि हम ये कर सकते हैं।”

श्रीलंका और बांग्लादेश के बीच खेले गए इस मैच के दौरान कुछ खराब पल भी देखने को मिले। आखिरी ओवर में बांग्लादेशी बल्लेबाजों ने कहा कि इसुरू उडाना की पहली दोनों गेंदे नो बॉल थी और अंपायर के नो बॉल ना देने पर शाकिब ने खिलाड़ियों को मैदान छोड़कर आने को कहा। हालांकि मामला मैदान के अंदर ही सुलझ गया और बांग्लादेश ने मैच जीत लिया।