Nidahas Trophy 2018: Jaydev Unadkat eyes ODI spot with good performance in Sri Lanka
जयदेव उनादकट © AFP

श्रीलंका में होने वाली निदास टी20 ट्रॉफी में भारतीय तेज गेंदबाजी अटैक संभालने वाले जयदेव उनादकट इस मौके का पूरा फायदा उठाकर अगले साल होने वाले वनडे विश्व कप की टीम में अपनी जगह बनाना चाहते हैं। उनादकट ने 2016 में जिम्बाब्वे के खिलाफ हरारे में टी20 मैच से अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर की शुरुआत की थी लेकिन इसके बाद वो एक साल तक टीम से बाहर रहे और श्रीलंका के खिलाफ दिसंबर में खेली गयी घरेलू सीरीज से उन्होंने टीम में वापसी की। इस तेज गेंदबाज की नजरें अब टी20 विश्व कप और अगले साल इंग्लैंड में होने वाले वनडे विश्व कप पर है। उनादकट ने 2013 में जिम्बाब्वे के खिलाफ वनडे डेब्यू किया था, हालांकि उसी साल वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज के दौरान वो आखिरी बार वनडे की जर्सी में नजर आए थे।

कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान बने दिनेश कार्तिक
कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान बने दिनेश कार्तिक

उनादकट ने कहा, ‘‘मैं ऐसा सोचता हूं कि ये आने वाले बड़े टूर्नामेंट की तैयारी है, ना कि सिर्फ टी20 विश्व कप की बल्कि वनडे के लिए भी तैयारी का अच्छा मौका है। जैसा की मैंने कहा ये टीम में जगह बनाने के बारे में के साथ मैदान पर अपने कौशल दिखाने का मौका है। अब टीम प्रबंधन को भी मुझ पर भरोसा है।’’ उनादकट के मुताबिक श्रीलंका के खिलाफ उनकी रणनीति वैसी ही रहेगी जैसी पिछली घरेलू सीरीज में थी। उन्होंने कहा, ‘‘पक्के तौर पर, ये हमारे लिए फायदेमंद होगा। हमें उनके मजबूत पक्षों के बारे है पता है। पिछली बार हम टी20 में भिड़े थे और इस बार भी हम टी20 में ही खेलेंगे। उनके बल्लेबाजों के लिए हमें रणनीति बनाने में फायदा होगा। कुछ नये खिलाड़ी आए है हम उनके लिए भी रणनीति बनाएंगें।’’

भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह की गैर मौजूदगी में गेंदबाजी अटैक की अगुवाई करने वाले उनादकट इस सीरीज को मौके की तरह देख रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘भारतीय टीम के साथ दो सीरीज में खेलने के बाद मुझे लगता है मेरे लिए ये ट्राई सीरीज काफी अच्छा मौका है। मैं टीम में अपनी जगह बना रहा हूं और अब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी रणनीति को मैदान में उतारने का आत्मविश्वास भी बढ़ा है। जब मैंने वापसी की थी उस समय इसकी काफी जरूरत थी।’’