Nidahas Trophy 2018: Variation is very important for a bowler in T20 format, says Jaydev Unadkat
जयदेव उनादकट © AFP

युवा तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट का कहना है कि टी20 फॉर्मेट में वैरिएशन एक गेंदबाज की सबसे बड़ी ताकत होती है। उनादकट ने भी कहा है कि भारतीय टीम  में लंबे समय तक बने रहने के लिए वो अपने इसी कौशल पर निर्भर हैं।उनादकट ने आईपीएल समेत घरेलू क्रिकेट में लगातार अच्छे प्रदर्शन के दम पर भारत की टी20 टीम में जगह बनाई है। दिसंबर में श्रीलंका के खिलाफ सीरीज में वापसी के बाद से वो अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं।

उनादकट ने निदास ट्रॉफी में श्रीलंका के खिलाफ भारत के मैच से पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘‘इस फॉर्मेट में एक गेंदबाज के लिये वैरिएशन काफी अहम होता है। आप बल्लेबाजों के दिमाग से खेलने की बात करते हो और आप ऐसा सिर्फ वैरिएशन की मदद से ही कर सकते हो। इस टूर्नामेंट में पावरप्ले में बल्लेबाज हमारे खिलाफ कैसे खेल रहे हें। ये हम पर निर्भर करता है कि हम इससे कैसे निपटते हैं और उन्हें गेंद को हिट नहीं करने देते।’’

निदास ट्रॉफी 2018, चौथा टी20(प्रिव्यू): श्रीलंका से हार का बदला लेने उतरेगा भारत
निदास ट्रॉफी 2018, चौथा टी20(प्रिव्यू): श्रीलंका से हार का बदला लेने उतरेगा भारत

सीनियर गेंदबाजों की गैरमौजूदगी में उनादकट ने ऑफ स्पिनर वाशिंगटन सुंदर के साथ पहले दो मैचों में गेंदबाजी की शुरूआत की। उनादकट ने सुंदर की तारीफ की। उनादकट ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि वो सचमुच अच्छी गेंदबाजी कर रहा है। हमने आईपीएल में पुणे के लिए एक साथ गेंदबाजी की थी। हमारे लिए यह चीज फायदेमंद है कि वो किस तरह ऑफ स्पिनर होने के नाते बल्लेबाजों को रन जुटाने से रोकता है, जो बहुत ही मुश्किल काम है। वो अपनी रफ्तार को बेहतर तरीके से कम ज्यादा करता है।’’

भारतीय गेंदबाजों ने बांग्लादेश के खिलाफ बेहतर प्रदर्शन किया जबकि श्रीलंका के खिलाफ शुरूआती मैच में कुसल परेरा ने उनकी खूब धुलाई की थी। उनादकट ने कहा कि जैसे जैसे टूर्नामेंट आगे बढ़ेगा गेंदबाज बेहतर ही होंगे। उन्होंने कहा, ‘‘आप टी20 में दबाव में होते हो। हमने बांग्लादेश के खिलाफ अपनी योजना को अच्छी तरह से लागू किया और ये आने वाले मैचों में बेहतर ही होगा।’’