Nidahas Trophy Final T20I: Dinesh Karthik’s last ball six hand India title win over Bangladesh
दिनेश कार्तिक © AFP

दिनेश कार्तिक की धमाकेदार पारी की दम पर टीम इंडिया ने निदाहास ट्रॉफी के फाइनल मैच में बांग्लादेश को हरा दिया है कार्तिक ने 8 गेंदो पर 29 रनों की विस्फोटक पारी खेलकर एक समय मुश्किल में चल रही भारतीय टीम को 4 विकेट से खिताबी जीत दिलाई। 167 के लक्ष्य का पीछा कर रही टीम इंडिया को रोहित शर्मा (56) ने मजबूत शुरुआत दिलाई लेकिन उनका विकेट गिरने के बाद भारतीय टीम मुश्किल में आ गई थी। आखिरी गेंद तक चले इस मैच में कार्तिक ने भारत को जीत तक पहुंचाया।

आखिरी ओवरों का रोमांच 

17वें ओवर में मनीष पांडे दो बार रन आउट होने से बचे। पहले ओवर की दूसरी गेंद पर दूसरा रन लेने के दौरान विकेटकीपर मुशफिकुर रहीम के गेंद विकेट पर लगाने के बाद फील्ड अंपायर ने तीसरे अंपायर के पास जाने का फैसला किया। हालांकि पांडे समय पर क्रीज पर पहुंच गए थे और तीसरे अंपायर ने उन्हें नॉट आउट दिया। इसी ओवर की आखिरी गेंद पर एक बार फिर पांडे रन आउट होने से बचे। इस बार भी तीसरे अंपायर ने नॉट आउट का फैसला दिया। वहीं 18वें ओवर में मुस्ताफिजुर रहमान ने पांडे को आउट किया। ओवर की पहली पांच गेंदो पर विजय शंकर एक भी रन नहीं बना पाए और पांडे पर बड़ा शॉट खेलने का दबाव बना। इसी कोशिश में पांडे अपना विकेट गंवा बैठे। मुस्ताफिजुर के इस ओवर ने बांग्लादेश को मैच में मजबूती से खड़ा कर दिया।

सुरेश रैना, विराट कोहली के बाद 7,000 टी20 रन पूरे करने वाले तीसरे भारतीय बने रोहित शर्मा
सुरेश रैना, विराट कोहली के बाद 7,000 टी20 रन पूरे करने वाले तीसरे भारतीय बने रोहित शर्मा

19वें ओवर में दिनेश कार्तिक क्रीज पर आए और रुबेल हुसैन की पहली ही गेंद पर छक्का जड़ दिया। दूसरी गेंद पर कार्तिक ने लॉन्ग ऑन पर शानदार चौका लगाया। भारतीय फैंस के बीच एक बार फिर उत्साह का माहौल बन गया। तीसरी गेंद पर धमाकेदार छक्के के साथ कार्तिक ने स्टेडियम में धमाका कर दिया। चौथी गेंद डॉट रही, जिसके बाद अगली गेंद पर कार्तिक ने दो रन चुरा लिए। आखिरी गेंद पर चौके के साथ कार्तिक ने ओवर खत्म किया। 20वें ओवर में भारत को जीत के लिए 12 रनों की जरूरत थी।

आखिरी ओवर कप्तान शाकिब ने सौम्य सरकार को दिया। स्ट्राइक पर शंकर थे, पहली गेंद वाइड रही। साथ ही मुशफिकुर ने शंकर को रन आउट करने का मौका भी गंवा दिया जो क्रीज से काफी बाहर निकल गए थे। दूसरी गेंद पर शंकर ने एक्सट्रा कवर पर खेलकर एक रन लिया और कार्तिक को स्ट्राइक दी। कार्तिक दूसरा रन लेने की सोच रहे थे लेकिन शंकर ने मना किया। अगली गेंद पर सिंगल लेकर कार्तिक ने फिर से स्ट्राइक शंकर को दे दी। 3 गेंद और 9 रन। शंकर ने बड़ी खूबसूरती से थर्ड मैन की तरफ दोनों फील्डरों के बीच से चौका लगा दिया। अगली गेंद पर एक और बड़ा शॉट लगाने की कोशिश में शंकर कैच आउट हो गए। चूंकि बल्लेबाजों ने क्रीज पार कर ली थी इसलिए आखिरी गेंद पर कार्तिक स्ट्राइक पर आए। एक गेंद पर 5 रनों की जरूरत थी और कार्तिक ने शानदार छक्का लगाकर भारत को निदाहास ट्रॉफी जिताई।