On India Sri lanka test pitch-fixing sting BCCI decides to wait and watch
Galle Stadium © Getty Images

भारत से जुड़े तीन मैचों की पिच से कथित छेड़छाड़ के स्टिंग आपरेशन पर सतर्क प्रतिक्रिया देते हुए बीसीसीआई ने कहा कि वे इस मामले में फंसे पूर्व क्रिकेटर रोबिन मौरिस के खिलाफ कार्रवाई करने पर तभी विचार करेंगे जब वह आईसीसी की मौजूदा जांच में दोषी पाया जाएगा।

यह स्टिंग अल जजीरा चैनल ने किया है और जिन मैचों पर सवाल उठाया जा रहा है वे भारत और श्रीलंका के बीच गाले में 26 से 29 जुलाई 2017 तक हुआ टेस्ट , भारत और आस्ट्रेलिया के बीच रांची में 16 से 20 मार्च 2017 तक हुआ टेस्ट और भारत तथा इंग्लैंड के बीच चेन्नई में 16 से 20 दिसंबर 2016 तक हुआ टेस्ट शामिल है।

आईसीसी का फैसला आने के बाद बीसीसीआई करेगा कोई कार्रवाई

गॉल और चेन्नई में हुए टेस्ट में भारत ने जीत दर्ज की थी जबकि रांची में हुआ मैच बराबरी पर छूटा था। बीसीसीआई के वरिष्ठ पदाधिकारी ने पीटीआई से कहा , ‘‘हमारा मानना है कि आईसीसी ने जांच शुरू कर दी है। उन्हें जांच पूरी करने दीजिए और मौरिस को दोषी ठहराने दीजिए। फैसला आने के बाद ही बीसीसीआई कार्रवाई करेगा।’’

उन्होंने साथ ही कहा कि 42 प्रथम श्रेणी और 51 लिस्ट ए मैच खेलने वाले मौरिस फिलहाल बीसीसीआई की किसी भी परियोजना से नहीं जुड़े हुए। अधिकारी ने कहा , ‘‘ हमें अपनी भ्रष्टाचार रोधी इकाई (एसीयू) से पता करने की जरूरत है कि मौरिस का नाम संदिग्धों की सूची में शामिल है या नहीं। दूसरी बात वह बीसीसीआई या किसी राज्य इकाई की परियोजना से नहीं जुड़ा हुआ जहां से उसे हटाए जाने की जरूरत है। ’’

उन्होंने कहा , ‘‘ अब जो चीज बची है वह बीसीसीआई की घरेलू क्रिकेटरों को दी जाने वाली 22500 रुपये (कटौती के बाद) की पेंशन है। बीसीसीआई को इसे रद्द करने का अधिकार है लेकिन उसके दोषी पाए जाने के बाद। ’’

मौरिस ने कथित तौर किसी भी तरह के गलत कार्य से इनकार किया है और षड्यंत्र की बात कही है। इस डाक्यूमेंट्री में मैच फिक्सिंग के आरोपी मौरिस को गाले के क्यूरेटर थरंगा इंडिका को अंडरकवर रिपोर्टर से मिलवाते हुए दिखाया गया है और वह फिक्सरों के अनुसार पिचों को बदलने का दावा करते दिख रहे हैं। आईसीसी ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है।