On this day, 10 years back, Virat Kohli’s India Won the Under-19 World Cup
Virat Kohli © ICC

भारतीय टीम अगर आज शिखर पर है तो उसके पीछे एक ही नाम सभी के जहन में आता है, वो है विराट कोहली। ये वो नाम है जिसे भविष्‍य  में सचिन तेंदुलकर के 100 शतकों के रिकॉर्ड तोड़ने का एक मात्र उम्‍मीदवार समझा जाता है। कोहली भारतीय टीम में लगातार अच्‍छा करते आ रहे हैं। यही कारण है जब अचानक महेंद्र सिंह धोनी ने कप्‍तानी का भार अपने उपर से हटाने का निर्णय लिया तो केवल विराट को ही उनके विकल्‍प के रूप में  देखा गया। विराट पर धोनी जैसे सफलतम कप्‍तान के पदचिन्‍हों पर  चलकर टीम को आगे लेजाने का दबाव था कोहली ने वो करके भी दिखाया। ये आज हम इसलिए बता रहे हैं क्‍योंकि आज ही वो दिन है जब वर्ष 2008 में विराट कोहली ने पहली पर अपनी कप्‍तानी का जोहर दुनिया के सामने साबित किया था। आज से 10 साल पहले दो मार्च के दिन ही भारतीय अंडर-19 टीम के इस लड़के ने देश को जूनियर विश्‍वकप जितवाया था।

PSLमें खाली स्‍टेडियम पाकिस्‍तान को दिखा रहे हैं आईना, भारतीय फैन्‍स खूब कर रहे हैं ट्रोल
PSLमें खाली स्‍टेडियम पाकिस्‍तान को दिखा रहे हैं आईना, भारतीय फैन्‍स खूब कर रहे हैं ट्रोल

विराट की सेना ने 2008 में मलेशिया के क्वालालांपुर में खेले गए फाइनल मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका को हराया था। दक्षिण अफ्रीका ने टॉस जीतकर भारत को पहले खेलने का मौका दिया था। हालांकि अंतिम मुकाबले में कोहली ने 34 गेंद खेलकर 19 रन ही बनाए थे। भारत की टीम केवल 159 रन बनाकर ऑल आउट हो गई। बारिश से प्रभावित इस मैच में दक्षिण अफ्रीका को 25 ओवर में 116 रन का लक्ष्‍य दिया गया। हालांकि दक्षिण अफ्रीका केवल 103 रन ही बना पाई। ओवर खत्‍म हो गए। तब तक दक्षिण अफ्रीका के आठ विकेट गिर चुके थे।

वो दिन है और आज का दिन है, विराट कोहली ने अपने करियर में कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा है। पिछले 10 सालों में कोहली ने कामयाबी की वो शौहरत हासिल की है जहां तक पहुंचना हर खिलाड़ी का सपना होता है। हाल ही में संपन्‍न हुए दक्षिण अफ्रीका दौरे के दौरान भी विराट कोहली ने कई रिकॉर्ड अपने नाम किए। इस दौरे से पहले उन्‍होंने दक्षिण अफ्रीका में कभी शतक नहीं लगाया था। कोहली ने वहां न सिर्फ टेस्‍ट और वनडे मैचों के दौरान शतक जड़ा बल्कि वो एक सीरीज में सबसे ज्‍यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी भी बन गए।