On this day, in 2004, Virender Sehwag made the historic triple hundred against Pakistan
वीरेंद्र सहवाग © Twitter

वीरेंद्र सहवाग अब क्रिकेट को अलविदा कह चुके हैं, लेकिन ट्विटर पर आज भी साथी खिलाड़ियों पर मजेदार कमेट्स करने के लिए उन्‍हें क्रिकेट फैन्‍स खूब पसंद करते हैं। 14 साल पहले पहले साल 2004 में आज ही के दिन  वीरेंद्र सहवाग ने एक ऐसा रिकॉर्ड अपने नाम किया था जिसके लिए आज भी उन्‍हें जाना जाता है। आज ही के दिन सहवाग में पाकिस्‍तान के मुलतान में 309 रन की ऐतिहासिक पारी खेली थी। टेस्‍ट क्रिकेट में एक पारी में सबसे ज्‍यादा रन बनाने का सहवाग का रिकॉर्ड आज भी कोई भारतीय खिलाड़ी नहीं तोड़ पाया है।

सौरव गांगुली की कप्‍तानी में भारतीय टीम पाकिस्‍तान की धरती पर गई थी। भारत के इतिहास में उस वक्‍त तक कभी तिहरा शतक नहीं लगा था। वीरेंद सहवाग अपनी विस्‍फोटक पारियों से तेजी से रन बनाने के लिए जाने जाते हैं। किसी ने उम्‍मीद भी नहीं की होगी कि दिल्‍ली का ये लड़का तिहरा शतक भी बना सकता है। उस वक्‍त तक भारतीय टेस्‍ट क्रिकेट के इतिहास में सबसे बड़ा स्‍कोर वीवीएस लक्ष्‍मण ने बनाया था। लक्ष्‍मण की 289 रनों की पारी के बाद दूसरे नंबर पर मास्‍टर ब्‍लास्‍टर सचिन तेंदुलकर का 242 रनों का रिकॉर्ड और फिर सुनील गावस्‍कर का 236 रनों का रिकॉर्ड था। सहवाग ने सभी को पछाड़ते हुए पाकिस्‍तान के मुलतान में 309 रनों की पारी खेली। इस मैच विनिंग पारी के लिए सहवाग को नया नाम मिला। हर कोई उन्‍हें मुल्‍तान का सुल्‍तान कहकर पुकारने लगा।  


इस पारी में सहवाग ने 531 मिनट क्रीज पर बिताए, जिसमें 375 गेंदे खेली और 39 चौकों और छह छक्‍कों की मदद से 309 रन बनाए। खास बात ये है कि सहवाग ने छक्‍का लगाकर अपना तिहरा शतक पूरा किया। ये इतिहास रचने के लिए सहवाग क्रीज से बाहर निकले और आगे आकर छक्‍का लगाया। इस पारी के बाद सहवाग ने एक बार फिर तिहरा शतक बनाया। इस बार साल 2008 में चेन्‍नई में उन्‍होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 319 रन की पारी खेली। आज तक सहवाग के इस रिकॉर्ड को कोई भी भारतीय खिलाड़ी तोड़ नहीं सका है। हालांकि सहवाग के बाद साल 2016 में करुण नायर ने इंग्‍लैंड के खिलाफ 303 रन की पारी खेली और वो तिहरा शतक लगाने वाले दूसरे भारतीय खिलाड़ी बन गए।