Rahul Dravid: Having India A team tour before national side opens up many possibilities of preparations
Rahul Dravid with India A © Getty Images

17 जून को शुरू हुआ इंडिया ए का इंग्लैंड दौरा 19 जुलाई को अनाधिकारिक टेस्ट के साथ खत्म हो गया। इस दौरे पर इंडिया ए टीम की ओर से कई शानदार प्रदर्शन देखने को मिले। इंडिया ए टीम के कोच और पूर्व दिग्गज राहुल द्रविड़ भी टीम के प्रदर्शन से काफी खुश हैं।

द्रविड़ ने बीसीसीआई टीवी को दिए इंटरव्यू में कहा, “वनडे और चार दिवसीय दोनों फॉर्मेट में हमारा यूके दौरा सफल रहा है। वनडे सीरीज जीतना अच्छा था। वेस्टइंडीज ए के खिलाफ भी हमे अच्छे नतीजे मिले। इंग्लैंड लायंस के खिलाफ आखिरी मैच हारना थोड़ा निराशाजनक था।”

टीम इंडिया से पहले इंडिया ए के दौरे कराना सही रणनीति

गौरतलब है कि 3 जुलाई से भारतीय राष्ट्रीय टीम का इंग्लैंड दौरा शुरू हुआ। राष्ट्रीय टीम के इंग्लैंड पहुंचने से पहले ही इंडिया ए टीम के खिलाड़ी वहां के हालात और पिच से वाकिफ हो चुके थे। इसी वजह से इंडिया ए के दीपक चाहर, क्रुनाल पांड्या को इंग्लैंड के खिलाफ टी20 सीरीज और अक्षर पटेल और शार्दुल ठाकुर को वनडे सीरीज में मौका दिया गया।

टेस्‍ट से पहले इंग्लिश बल्‍लेबाज मचा रहे धमाल, बढ़ी भारत की चिंता
टेस्‍ट से पहले इंग्लिश बल्‍लेबाज मचा रहे धमाल, बढ़ी भारत की चिंता

इस खास शेड्यूल प्लानिंग के बारे में कोच द्रविड़ ने कहा, “इस तरह के दौरे रखना बेहतरीन विचार है। हालांकि हमेशा इस तरह का दौरा मुमकिन नहीं हो पाता है लेकिन जब भी ऐसा होता है, ये काफी फायदेमंद रहता है। इस टीम के कई खिलाड़ी राष्ट्रीय टीम से जुड़े हैं। इस दौरे से मुरली विजय और अजिंक्य रहाणे को यहां पहले आकर कुछ समय बिताने और एक कड़े अभ्यास मैच में खेलने का मौका मिला।”

कोच ने आगे कहा, “राष्ट्रीय टीम से पहले इंडिया ए का दौरा रखने से दोनों ही टीमों को तैयारी करने के नई संभावनाएं मिलती हैं। ये कई खिलाड़ियों के प्रेरणा का काम करता है। क्योंकि उन्हें पता होता है कि अगर वो इंडिया ए के दौरे पर अच्छा करेंगे तो उन्होंने राष्ट्रीय टीम में जगह मिलेगी।”