Ravi Shastri confirms Team India has no place for Yo-Yo test failures
Ravi Shastri © AFP

भारतीय क्रिकेट में आजकल फिटनेस का नया पैमाना यो-यो टेस्‍ट बन गया है। हाल में कई खिलाड़ी इसमें फेल होने के बाद टीम इंडिया से बाहर हो चुके हैं। भारतीय टीम के हेड कोच रवि शास्‍त्री ने यो-यो टेस्‍ट पर जोर देकर कहा है कि ये सबके लिए बराबर है। जो पास करेगा वो टीम में रहेगा और जो नहीं करेगा वो बाहर जाएगा।

विदेश रवाना होने से पहले कोहली 100 फीसदी फिट, मीडिया को दी खबर
विदेश रवाना होने से पहले कोहली 100 फीसदी फिट, मीडिया को दी खबर

इंग्‍लैंड दौरे पर रवाना होने से पूर्व शुक्रवार को आयोजित संवाददाता सम्‍मेलन में शास्‍त्री के साथ टीम इंडिया के कप्‍तान विराट कोहली भी मौजूद थे। शास्‍त्री ने कहा, ‘ यो-यो टेस्‍ट टीम में जगह बनाने के लिए है। यदि आप इसे पास करते हैं तो ठीक वरना टीम से बाहर जा सकते हैं। गलती के लिए कोई जगह नहीं है। कप्‍तान आगे आकर टीम की अगुवाई कर रहे हैं।

भारतीय टीम, ब्रिटेन दौरे का आगाज 27 जून को आयरलैंड के खिलाफ दो टी-20 मैचों की सीरीज से करेगी। सीरीज का दूसरा मैच 29 जून को खेला जाएगा। इस दौरे पर टीम इग्लैंड के साथ तीन टी-20, तीन वनडे और पांच टेस्ट मैच खेलेगी।

बकौल शास्‍त्री, ‘ हमारे लिए सभी सीरीज अहम है। चाहे हम बाहर खेल रहे हों या घरेलू सीरीज ही क्‍यों न खेल रहे हों। छोटे फॉर्मेट से दौरे की शुरुआत करना अच्‍छा है। खिलाडि़यों को पांच दिवसीय मैच से पहले खुद को यहां की परिस्थितियों से ढालने का भरपूर मौका मिलेगा।’

भारत का यो-यो मानक स्कोर टॉप टीमें में सबसे कम

भरतीय टीम में यो-यो टेस्ट पास करने का मानक स्कोर 16.1 रखा गया है। रिपोर्ट के मुताबिक 5 बार की विश्व चैंपियन ऑस्ट्रेलिया के साथ-साथ इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के लिए 19 का स्कोर तय किया गया है। साउथ अफ्रीका के लिए 18.5 तो वहीं श्रीलंका और पाकिस्तान का यो-यो टेस्ट पास करने का मानक स्कोर 17.4 है।