Ravi Shastri says MS Dhoni’s experience can’t be bought or sold in market
Ravi Shastri (left) and MS Dhoni © Getty Images

महेंद्र सिंह धोनी भारतीय क्रिकेट के सबसे सफल कप्‍तानों में से एक है। उनकी कप्‍तानी में ही भारत ने करीब तीन दशक बाद साल 2011 में विश्‍व कप जीता था। इससे पहले वो भारत को साल 2007 में टी20 विश्‍व कप भी जितवा चुके हैं। भारतीय टीम के कोच रवि शास्‍त्री भी धोनी की कप्‍तानी के कायल हैं। उन्‍होंने हाल ही में धोनी की तारीफ करते हुए एक बड़ा बयान दिया। शास्‍त्री ने कहा, “धोनी क्रिकेट इतिहास में महानतम कप्‍तानों में से एक हैं। उनके पास गजब की फिटनेस है। कप्‍तानी का बेहतरीन अनुभव है। ऐसा अनुभव न बाजार में खरीदा जा सकता है और न ही बेचा जा सकता है।”

जो दिखता है वही बिकता है, कोहली ने कहा, भारत को फुटबॉल हब बनाने के लिए टीवी पर मैचों का प्रसारण जरूरी
जो दिखता है वही बिकता है, कोहली ने कहा, भारत को फुटबॉल हब बनाने के लिए टीवी पर मैचों का प्रसारण जरूरी

भले ही लोग अब धोनी की टीम में जगह को लेकर सवाल उठाते हों, लेकिन इन सब से उपर उठक धोनी अपने काम पर ध्‍यान देते हैं। बीते कुछ समय में बल्‍लेबाजी करने के लिए काफी नीचे आने पर धोनी को आलोचना का सामना करना पड़ा था। धोनी अक्‍सर मुश्किल घड़ी में टीम के लिए बड़ी पारी खेलकर अपने आलोचकों को जवाब देते हैं। कप्‍तान विराट कोहली को महेंद्र सिंह धोनी पर पूरा भरोसा है। यही कारण है कि अक्‍सर वा मैदान में फिल्डिंग की सजावट करने और गेंदबाजों को सही लाइन और लेंथ पर गेंदबाजी करने की सलाह देते हुए खिलते हैं।

शास्‍त्री ने कहा, “धोनी ऐसे बल्‍लेबाज हैं जो पांचवे, छठे व सातवें नंबर पर आकर भी अच्‍छी बल्‍लेबाजी कर लेते हैं। धोनी जैसा फिनिशर किसी टीम के पास नहीं है।” दक्षिण अफ्रीका जैसे दौरे पर तेज गेंदबाजों का बोल बाला रहता है, लेकिन  वहां युवजवेंद्र चेहल और कुलदीप यादव की फिरकी ने मेजबानों को खूब परेशान किया था। इसके पीछे की मुख्‍य वजह भी महेंद्र सिंह धोनी ही हैं। मैच के दौरान कई बार स्‍टंप माइक के माध्‍यम से धोनी को इन नए खिलाडि़यों को सही दिशा में गेंदबाजी के टिप्‍स देते सुना गया है।