Ravichandran Ashwin: I had hope to win even when Umesh Yadav was playing with Hardik Pandya
R Ashwin with team © Getty Images

बर्मिंघम में खेले गए सीरीज के पहले मुकाबले में भारतीय टीम को महज 31 रनों से हार का सामना करना पड़ा। मैच चौथे दिन के पहले सेशन के दौरान ही खत्‍म हो गया। आखिरी दिन भारत को जीत के लिए 84 रनों की दरकार थी। मैदान पर विराट कोहली और दिनेश कार्तिक मौजूद थे। भारत ने 110/5 से आगे खेलना शुरू किया।

मिशेल स्‍टार्क को पाकिस्‍तान के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज में वापसी की उम्‍मीद
मिशेल स्‍टार्क को पाकिस्‍तान के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज में वापसी की उम्‍मीद

विराट से थी फिर करिश्‍माई पारी की उम्‍मीद

विराट कोहली ने पहली पारी में पुछल्‍ले बल्‍लेबाजों के साथ छोटी-छोटी साझेदारी बना, भारत को मैच में पिछड़न से बचाया था। फैन्‍स को उम्‍मीद थी कि इस बार भी विराट कोहली कुछ ऐसा ही करिश्‍मा दिखाएंगे, लेकिन विराट अपना अर्धशतक पूरा करने के बाद 51 रन पर बेन स्‍टोक्‍स की गेंद पर आउट हो गए।

अश्विन को थी आखिरी विकेट तक जीत की उम्‍मीद

दिनेश कार्तिक और विराट कोहली के आउट होने के बाद शायद भारतीय फैन्‍स ने जीत की उम्‍मीद छोड़ दी हो, लेकिन पवेलियन में बैठा एक खिलाड़ी ऐसा भी था जिसने अंत तक मैच जीतने की उम्‍मीद नहीं छोड़ी थी। पोस्‍ट मैच प्रेजेंटेशन के दौरान रविचंद्रन अश्विन ने कहा, “मैदान पर आखिरी विकेट के रूप में हार्दिक पांड्या और उमेश यादव मौजूद थे, तब भी उन्‍होंने उम्‍मीद नहीं छोड़ी थी।”

अश्विन ने कहा, “मुझे लग रहा था कि उमेश यादव के साथ रहते हुए हार्दिक कुछ अच्‍छे शॉट लगा दे तो हम फिर से मैच में वापसी कर लेंगे। भारत बेहद ज्‍यादा अंतर से नहीं हारा है। हम इससे पहले भी तीन चार बार विदेशी दौरों पर बेहद फंसे हुए मुकाबलों में अविश्‍वसनीय तरीके से वापसी कर जीत दर्ज कर चुके हैं।”