Ravichandran Ashwin wishes to wear blue jersey again and play World Cup 2019
Ravichandran Ashwin (File Photo) © Getty Image

आईसीसी टेस्‍ट रैंकिंग में गेंदबाजी में नंबर पांच पर मौजूद रविचंद्रन अश्विन भले ही खेल के सबसे लंबे प्रारूप में लगातार अच्‍छा कर रहे हों, लेकिन वनडे और टी-20 में उनका स्‍थान अब छिन चुका है। एक समय था जब वनडे में अश्विन और रविंद्र जड़ेजा की फिरकी की धाक थी। अब चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की जोड़ी के जादू के सामने इन दोनों खिलाड़ियों की चमक फीकी पड़ चुकी है।

कप्‍तान ने दिए संकेत, बाकी टी-20 मैचों में इन खिलाड़ियों को दिया जाएगा मौका
कप्‍तान ने दिए संकेत, बाकी टी-20 मैचों में इन खिलाड़ियों को दिया जाएगा मौका

अश्विन से वनडे में उनकी भूमिका को लेकर लगातार सवाल किए जाते हैं। हाल ही में तमिलनाडु प्रीमियर लीग के दौरान भी उनसे मीडिया ने इस संबंध में सवाल पूछे। उन्‍होंने कहा, “हर खिलाड़ी की ये तमन्‍ना होती है कि वो नीली जर्सी पहने। मैं भी एक बार फिर नीली जर्सी पहनकर विश्‍वकप खेलना चाहता हूं। पर ये मेरे हाथ में नहीं है। ये इस बात पर निर्भर करता है कि टीम मैनेजमेंट और चयनकर्ता मेरे बारे में क्‍या सोचते हैं।”

अश्विन बोले, ” मैं केवल अपने खेल को इंज्‍वाय कर रहा हूं। खुद को मानसिक और शारीरिक रूप से फिट रखते हुए मैदान पर उतरता हूं। मैं केवल ये सोचता हूं कि अपने खेल पर फोकस रखूं। अगर मुझे मौका मिलता है तो इसे दोनों हाथों से लपक लूं।”

बता दें कि दक्षिण अफ्रीका दौरे पर कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की जोड़े ने शानदार प्रदर्शन किया। दोनों अपनी फिरकी के जाल में दक्षिण अफ्रीकी बल्‍लेबाजों को आसानी से फांस कर उनका विकेट निकाल लेते। इस शानदार गेंदबाजी के दम पर वनडे और टी-20 में दोनों ने अश्विन को रिप्‍लेस कर दिया। आयरलैंड के खिलाफ पहले टी-20 मैच में भी कुलदीप यादव ने चार और युजवेंद्र चहल ने तीन विकेट निकाल विरोधी टीम को वापसी का कोई मौका नहीं दिया।