Ravichandran Ashwin’s bowling is not as good as his team Performance in 2018
Ravichandran Ashwin © IANS

इंडियन प्रीमियर लीग के 11वें सीजन में किंग्स इलेवन पंजाब की टीम नए कप्तान रविचंद्रन अश्विन के साथ मैदान पर उतरी है। टीम का प्रदर्शन तो काफी शानदार रहा है और अब के 10 में से 6 मुकाबले जीतकर अंतिम चार में बनी हुई है।

क्या हार के बाद सहवाग और प्रीति जिंटा में हुई थी तकरार
क्या हार के बाद सहवाग और प्रीति जिंटा में हुई थी तकरार

किंग्स इलेवन के टीम की तकदीर इस सीजन में प्वाइंट्स टेबल पर भले ही बदली नजर आ रही है लेकिन कप्तान आर अश्विन के प्रदर्शन में गिरावट आई है। अब तक जहां उनकी कप्तानी में टीम ने छह मैच जीते हैं तो उनके खाते में भी सिर्फ 6 विकेट ही दर्ज हैं।

गेंदबाजी में नाकाम साबित हो रहे

अश्विन ने इस सीजन में सबसे ज्यादा विकेट हासिल करने वाले गेंदबाजों की लिस्ट में 31वें नंबर पर हैं। पंजाब के कप्तान आईपीएल 2018 में खेले गए 10 मैचों में 311 रन खर्च करने के बाद महज 6 बल्लेबाज को ही आउट कर पाए हैं। हर मैच में उन्होंने अपने कोटे के चार ओवर डाले हैं पर नाम के मुताबिक सफलता नहीं मिली।

Ravichandran Ashwin  © IANS
Ravichandran Ashwin © IANS

बल्ले से भी फ्लॉप ही रहे हैं

बल्लेबाजी की बात करें तो अश्विन ने राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने का प्रयोग किया था। बतौर ऑल राउंडर टीम में खेलने वाले अश्विन बगैर खाता खोले मैदान से बाहर आ गए। क्रिस गेल जैसे आतिशी बल्लेबाज के आउट होने के बाद अश्विन का मैदान पर जाना समझ से परे था। अब तक के 10 मुकाबलों की बात करें तो 6 में उनको बल्लेबाजी करने का मौका मिला है जिसमें 11.40 की साधारण औसत से 57 रन बनाए हैं।