Rohit Sharma: It would be nice to play only one format on overseas tour
रोहित शर्मा © Getty Images

भारतीय वनडे क्रिकेट टीम के उपकप्तान रोहित शर्मा का मानना है कि विदेशों दौरों पर लगातार तीनों फॉर्मेट खेलने से खिलाड़ियों के शरीर पर असर पड़ता है। रोहित ने कहा कि अच्छा होगा अगर भविष्य में विदेशी दौरों पर एक ही फॉर्मेट की सीरीज खेली जाए। बता दें कि भारतीय टीम दो महीने के लिए दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर हैं जहां तीन मैचों की टेस्ट सीरीज खत्म होने के बाद अब टीम को छह वनडे मैच और फिर तीन टी20 मैचों की सीरीज खेलनी है।

रोहित ने कहा, ‘‘ऐसी बातों पर चर्चा हुई है कि एक फॉर्मेट की सीरीज खेलने के बाद हम घर जाएंगे। भारत के लिए ऐसा कभी नहीं हुआ। हम जब भी दौरे पर रहे है तो हमने सारी सीरीज एक ही बार में खेली हैं। हां, इससे शरीर पर काफी प्रभाव पड़ता है।’’ हालांकि भारत और ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट बोर्ड के करार से हिसाब से टीम को टेस्ट और वनडे मैचों के लिए अलग-अलग दौरे पर जाना है। जबकि इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के साथ ऐसा नहीं है।

रोहित ने कहा, ‘‘हमने पहले भी कहा है कि एक फॉर्मेट खिलाड़ियों के लिए अच्छा रहेगा, हालांकि पहले की भारतीय टीम ने दौरे पर पूरी सीरीज खेली है। लेकिन भारत के दौरे पर आने वाली टीमों के साथ ऐसा नहीं है, वे भारत आते है एक फॉर्मेट में खेलते है और चले जाते है, तरोताजा होकर फिर भारत आते है।

चेन्नई सुपर किंग्स टी20 क्रिकेट की सबसे बेहतरीन टीम है: ड्वेन ब्रावो
चेन्नई सुपर किंग्स टी20 क्रिकेट की सबसे बेहतरीन टीम है: ड्वेन ब्रावो

दक्षिण अफ्रीका दौरे पर टेस्ट सीरीज में फ्लॉप प्रदर्शन के बारे में बात करते हुए रोहित कहा, ‘‘ऐसा नहीं है कि मैं टेस्ट मैच में कोशिश नहीं करता हूं। मैं जिस प्रारूप में भी खेलता हूं अपनी ओर से पूरी कोशिश करता हूं। कई बार सफल होता हूं, कई बार असफल लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि आपको बहुत ज्यादा बदलाव करने की जरूरत है। आपको खुद पर भरोसा करने की जरूरत है। आप ने यहां तक का सफर खेल में सफलता से तय किया है। मैं कई बार मुश्किल स्थिति में रहा हूं। इसलिये मैं एक बार में एक मैच को ले रहा हूं।’’