हार्दिक पांड्या ने पिछली सीरीज में जबर्दस्त प्रदर्शन किया था © AFP
हार्दिक पांड्या ने पिछली सीरीज में जबर्दस्त प्रदर्शन किया था © AFP

टीम इंडिया के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या इन दिनों सफलता की बुलंदियों को छू रहे हैं। वो बल्ले से रनों का अंबार लगा रहे हैं और गेंद से विरोधी टीमों पर जमकर वार कर रहे हैं। हार्दिक पांड्या ने पिछले एक साल में खुद को एक अच्छा ऑलराउंडर साबित किया है। क्या आप जानते हैं हार्दिक पांड्या की प्रतिभा को सबसे पहले सचिन तेंदुलकर ने पहचाना था।

आईपीएल के दौरान सचिन तेंदुलकर ने बयान दिया था कि हार्दिक पांड्या अगर इसी तरह खेलते रहे तो उनके अंदर टीम इंडिया के लिए खेलने का दम है। सचिन के इस बयान पर हार्दिक पांड्या ने एनडीटीवी से बातचीत करते हुए कहा, ‘ईमानदारी से कहूं, जब सचिन ने मुझे कहा था कि तुम टीम इंडिया के लिए खेल सकते हो तो मुझे बहुत खुशी हुई थी, लेकिन मैंने ये नहीं सोचा था कि मैं एक दिन टीम इंडिया के लिए खेलूंगा।’

हार्दिक पांड्या ने सिर्फ 9वीं क्लास तक पढ़ाई की और उसके बाद उन्होंने क्रिकेट पर ही ध्यान दिया। अपनी पढ़ाई पर हार्दिक पांड्या ने कहा, ‘मैंने खेल के लिए पढ़ाई नहीं छोड़ी थी। मैं पढ़ाई में अच्छा नहीं था और उसकी कई और बड़ी वजह भी थी।’ हार्दिक पांड्या ने अपने करियर की शुरुआत एक लेग स्पिनर ऑलराउंडर के तौर पर की थी, लेकिन बड़ौदा के कोच एन सनथ कुमार ने पांड्या को एक तेज गेंदबाजी करने वाले ऑलराउंडर के तौर पर विकसित किया।

पांड्या ने अपने तेज गेंदबाज बनने के मुद्दे पर कहा, ‘मैंने गुस्से के कारण लेग स्पिन बंद की। मुझे गेंदबाजी नहीं दी जाती थी इसीलिए मैं नाराज रहता था। फिर मैंने फैसला किया कि मैं सिर्फ बल्लेबाजी करूंगा। एक दिन बैंगलोर में सनथ ने मुझे नेट्स पर देखा और उसके 15 दिन बाद मैं रणजी ट्रॉफी में गेंदबाजी कर रहा था जो कि काफी हैरान करने वाला था।’

आईसीसी वनडे रैंकिंग: विराट कोहली को पछाड़कर एबी डीविलियर्स बने नंबर-1
आईसीसी वनडे रैंकिंग: विराट कोहली को पछाड़कर एबी डीविलियर्स बने नंबर-1

हार्दिक पांड्या ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज में जबर्दस्त प्रदर्शन किया था। अब 22 अक्टूबर से न्यूजीलैंड के खिलाफ 3 वनडे मैचों की सीरीज भी शुरू हो रही है। टीम इंडिया और उसके फैंस को हार्दिक पांड्या से एक बार फिर अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद होगी।