Shapoor Zadran: Wish to see international Cricket, not bomb blast in Afghanistan
Shapoor zadran (File Photo) © Getty Image

अफगानिस्‍तान में लगातार हो रहे धमाकों पर गेंदबाज शापूर जदरान ने आज कहा कि उनके देश में बम धमाके होते रहेंगे लेकिन वह उसपर ध्यान दिए बिना खेलना जारी रखना चाहते है। शापूर ने कहा कि यह दुखदायक है कि इस तरह की घटनाएं उनके देश में होती रहती है लेकिन पेशेवर क्रिकेटर के तौर पर उनके पास आगे बढ़ने के अलावा कोई विकल्प नहीं है।

रोड्स होंगे बांग्लादेश क्रिकेट टीम के नए कोच ! 2019 विश्वकप पहला लक्ष्य
रोड्स होंगे बांग्लादेश क्रिकेट टीम के नए कोच ! 2019 विश्वकप पहला लक्ष्य

बांग्लादेश के साथ मौजूदा टी-20 सीरीज में अफगानिस्तान के तेज आक्रमण की अगुआई कर रहे शापूर ने कहा , ‘‘धमाके होते रहेंगे लेकिन हमें उन्हें भूलना होगा। हर महीने हमले होते हैं। हम ज्यादा समय दौरे पर होते है , हमारे पास क्या विकल्प हैं ? हमें इन चीजों को पीछे छोड़ कर खेल पर 100 प्रतिशत ध्यान देना होगा। ’’

बार – बार चोटिल होने से 30 साल के इस खिलाड़ी का करियर प्रभावित हुआ है। बांग्लादेश के खिलाफ पहले टी-20 मैच से पहले भी उन्हें घुटने में पट्टी के साथ अभ्यास करते देखा गया था। उन्होंने अगस्त 2013 के बाद प्रथम श्रेणी का कोई मैच नहीं खेला है और इस बात पर कोई आश्चर्य नहीं है कि वो अफगानिस्तान के ऐतिहासिक टेस्ट मैच के लिए टीम में नहीं हैं। अफगानिस्तान 14 जून से बैंगलोर में से अपना पहला टेस्ट मैच भारत के खिलाफ खेलेगा।

शापूर देश लिए पहले टी-20 विश्व कप (2010) और क्रिकेट विश्व कप 2015 में खेल चुके हैं। वो ऐतिहासिक टेस्ट टीम में शामिल नहीं होने से निराश है। उन्होंने कहा , ‘‘मैं इससे चूकने से निराश हूं लेकिन चोट के कारण मैने चार दिवसीय मैच नहीं खेले है। अब मैं फिट हूं और 140 की रफ्तार से गेंद फेंक सकता हूं लेकिन मेरा ध्यान सीमित ओवरों के क्रिकेट पर है। ’’

शापूर से जब पूछा गया कि वह कब तक क्रिकेट खेलेंगे तो उन्होंने कहा , ‘ मुझे लगता है कि मुझ में अभी काफी क्रिकेट बचा हुआ है। जब तक फिट हूं तब तक खेलूंगा। मैं संन्यास लेने से पहले अफगानिस्तान में एक अंतरराष्ट्रीय मैच खेलना चाहता हूं।’’ उन्हें उम्मीद है कि वह आईपीएल के आगामी सीजन में खेल पाएंगे।