Shardul Thakur ready to step up in Bhuvneshwar Kumar, Jasprit Bumrah’s absence
Shardul Thakur © AFP

भारतीय टीम को श्रीलंका के खिलाफ निदास ट्रॉफी 2018 के पहले मैच में हार का सामना करना पड़ा। रोहित शर्मा की सेना ने 175 रन का लक्ष्‍य जीत के लिए रखा था। टी-20 के लिहाज से बेहद अच्‍छा टार्गेट देने के बावजूद भी श्रीलंकाई टीम ने शार्दुल ठाकुर के एक महंगे ओवर के कारण इसे आसानी से बना लिया। ठाकुर ने छह गेंदो पर पांच चौके और एक छक्‍का खाकर 27 रन लुटा दिए। जिसके बाद टीम के लिए इससे उबर पाना मुश्किल था। जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्‍वर कुमार जैसे टीम के मुख्‍य गेंदबाजों की गैर मौजूदगी में तेज गेंदबाजी का जिम्‍मा संभाल रहे शार्दुल ने श्रीलंका के खिलाफ खेले गए दूसरे मैच में चार विकेट लेकर अपने पाप धो लिए।

जीत के बाद मीडिया से बातचीत के दौरान शार्दुल ठाकुर ने कहा, “मुझे चुनौतियों का सामना करना काफी पसंद है। जब सीनियर खिलाड़ी टीम में मौजूद नहीं है तो मुझे आगे आकर जिम्‍मेदारी उठानी ही होगी। ये काम पहले में घरेलू क्रिकेट में भी करता रहा हूं। पहली बार मुझे बड़ी जिम्‍मेदारी उठाने का मौका अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में मिला।”

ठाकुर ने कहा, ” मैं उस जगह से आया हूं जहां जहीर खान, धवल कुलकर्णी, अजीत आगरकर जैसे खिलाड़ी टीम का प्रतिनिधित्‍व कर चुके हैं। मुझे उनकी भुमिका में आगे बढ़कर टीम के लिए आना ही होगा।” शार्दुल की चार विकेट की बदौलत ही भारतीय टीम ने श्रीलंका के खिलाफ दूसरे मैच में मेजबानो को 152 रन के स्‍कोर पर समेट दिया। अपनी पारी के दौरान ठाकुर ने महज छह रन दिए। एक समय ऐसा भी आया जब लगातर दो विकेट लेने के बाद लगा कि शार्दुल ठाकुर इस मैच में हैट्रिक भी ले सकते हैं। ठाकुर को पता है कि क्रिकेट के इस सबसे छोटे प्रारूप में उन्‍हें बार-बार मौके नहीं मिलने वाले हैं।