ग्लेन मैक्सवेल © IANS
ग्लेन मैक्सवेल © IANS

एशेज सीरीज के लिए ऑस्ट्रेलियाई टीम में भले ही ग्लेन मैक्सवेल को जगह नहीं मिली लेकिन उन्होंने शेफील्ड शील्ड के मुकाबले में ये दिखा दिया कि वो एशेज में खेलने के हकदार हैं। मैक्सवेल ने शेफील्ड शील्ड में विक्टोरिया के लिए खेलते हुए न्यू साउथ वेल्स के खिलाफ शानदार दोहरा शतक जड़ा। अपने करियर का पहला दोहरा शतक जमाने वाले मैक्सवेल ने 260 गेंद में नाबाद 213 रनों की पारी खेली, जिसकी बदौलत विक्टोरिया ने दिन का खेल खत्म होने तक 3 विकेट पर 365 रन बना लिए।

मैक्सवेल का तूफान
विक्टोरिया के कप्तान एरॉन फिंच ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनी, लेकिन उनकी टीम की शुरुआत खराब रही। विक्टोरिया ने अपना पहला विकेट महज 17 रन पर गंवा दिया। इसके बाद मैक्सवेल ने क्रीज पर कदम रखा और उन्होंने आते ही ताबड़तोड़ शॉट्स की बरसात कर दी। मैक्सवेल ने सिर्फ 113 गेंद में अपना शतक पूरा किया और फिर उसके बाद मैक्सवेल ने 27 चौके और 3 लंबे छक्के लगाकर अपने 200 रन पूरे किए। मैक्सवेल ने शानदार स्ट्रेट ड्राइव पर चौका लगाकर अपना दोहरा शतक पूरा किया।

एशेज सीरीज: दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 165/4, स्मिथ का अर्धशतक
एशेज सीरीज: दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 165/4, स्मिथ का अर्धशतक

मैक्सवेल ने शेफील्ड शील्ड के पहले तीन दौर में दो अर्धशतक और एक 45 रन की पारी खेली। मैक्सवेल का ये प्रदर्शन ऑस्ट्रेलियाई सेलेक्टर्स को प्रभावित नहीं कर सका। ऑस्ट्रेलिया सेलेक्टर्स ने मैक्सवेल पर शॉन मार्श को तरजीह दी। इसके बाद मैक्सेवल को गाबा टेस्ट के लिए डेविड वॉर्नर के कवर के तौर पर बुलाया गया लेकिन बाद में उन्हें टीम से रिलीज कर दिया गया क्योंकि गाबा टेस्ट के लिए वॉर्नर फिट हो गए। टीम से रिलीज होने के बाद मैक्सवेल ने सिडनी के मैदान पर शानदार दोहरा शतक जड़ सेलेक्टर्स को अपनी फॉर्म के बारे में बता दिया।