SLC president Thilanga Sumathipala unhappy with government action against board
Thilanga sumathipala © Getty Images

श्रीलंका क्रिकेट (एसएलसी) के अध्यक्ष तिलंगा सुमतिपाला ने क्रिकेट बोर्ड के प्रशासन को सक्षम प्राधिकारी (सीए) को सौंपने के सरकार के फैसले पर नाखुशी व्यक्त की है। सुमतिपाला ने कहा, ‘ मैं एक व्यक्ति की इस कार्रवाई से दुखी हूं जिससे क्रिकेट का संचालन सरकार कर रही है जैसा दुनिया में कहीं नहीं होता।’

इंग्‍लैंड के कप्‍तान नासिर हुसैन ने स्लिप में खड़े होकर की कमेंट्री
इंग्‍लैंड के कप्‍तान नासिर हुसैन ने स्लिप में खड़े होकर की कमेंट्री

खेल मंत्री फैजर मुस्तफा ने वरिष्ठ नौकरशाह कमल पदमसिरी को सीए नियुक्त किया है। उन्होंने दावा किया कि मंत्री के पास सुमतिपाला प्रशासन का कार्यकाल बढ़ाने या क्रिकेट संचालन के लिए अंतरिम समिति नियुक्त करने का अधिकार नहीं है।

एसएलसी के गुरुवार को चुनाव होने थे लेकिन हाल में श्रीलंका की एक अदालत ने चुनाव पर रोक लगा दी थी। तिलंगा सुमतिपाला के खिलाफ निशांत राणातुंगा द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए अदालत ने 14 जून तक चुनाव नहीं कराने का आदेश दिया है। मुस्तफा ने कहा कि चुनाव 31 जुलाई से पहले हो जाएंगे।

निशांत रणतुंगा श्रीलंका के विश्व विजेता पूर्व कप्तान अर्जुना राणातुंगा के भाई है और बोर्ड के अध्यक्ष का चुनाव लड़ रहे हैं। वह बोर्ड के पूर्व उपाध्यक्ष और सचिव भी रहे हैं। वह इस चुनाव में सुमतिपाला के मुख्य प्रतिद्वंद्वी है।

एसएलसी प्रशासन जिसमें निशांत राणातुंगा को सचिव बनाया गया था लेकिन उन्हें 2015 में मौजूदा सरकार ने बर्खास्त कर दिया था। इसके बाद एक अंतरिम समिति को नियुक्त किया गया था और चुनाव में सुमतिपाला को 2016 में अध्यक्ष चुना गया था।