South Africa vs Australia, 4th Test: Visitors need 524 runs to win
Morne Morkel © AFP

जोहान्सबर्ग टेस्ट मैच के चौथे दिन दक्षिण अफ्रीका टीम ने रिकॉर्ड 611 रनों की बढ़त हासिल की। इस दौरान कप्तान फॉफ ड्यु प्लेसी ने शानदार शतक बनाया। दक्षिण अफ्रीका ने चाय तक छह विकेट पर 344 रन बनाकर अपनी पारी घोषित कर ऑस्ट्रेलिया को 612 रन का लक्ष्य दिया। कप्तान फॉफ डु प्लेसी ने 120 और सलामी बल्लेबाज डीन एल्गर ने 81 रन बनाए। दोनों ने चौथे विकेट के लिए 170 रन जोड़े जो मौजूदा सीरीज की दोनों टीमों की ओर से सर्वश्रेष्ठ साझेदारी है। ऑस्ट्रेलिया के सामने जीत के लिए 612 रनों का विशाल लक्ष्य है। चौथे दिन का खेल खत्म होने तक मेहमान टीम ने 88 के स्कोर पर 3 विकेट खो दिए थे। फिलहाल पीटर हैंड्सकॉम्ब और शॉन मॉर्श क्रीज पर टिके हुए हैं।

आईपीएल 2018: टूर्नामेंट के 10 सालों के पहले रिकॉर्ड की जानकारी
आईपीएल 2018: टूर्नामेंट के 10 सालों के पहले रिकॉर्ड की जानकारी

500 के ज्यादा की बढ़त हासिल करने के बाद भी दक्षिण अफ्रीका टीम के बल्लेबाजी जारी रखने की सबसे बड़ी वजह है चोट से प्रभावित गेंदबाज। दक्षिण अफ्रीका की टीम के मीडिया मैनेजर के अनुसार मेजबान टीम के तीनों तेज गेंदबाज चोटों से परेशान हैं। मॉर्ने मॉर्कल की मांसपेशियों में खिंचाव है जिसके कारण उनके गेंदबाजी करने की संभावना काफी कम थी लेकिन फिर भी मॉर्केल ने ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी में गेंदबाजी भी की और दो विकेट झटके। कगिसो रबाडा  की कमर में जकड़न है जबकि वर्नॉन फिलेंडर की ग्रॉइन में परेशानी है।

दक्षिण अफ्रीका की टीम सीरीज में 2-1 से आगे चल ही है और उसके बल्लेबाजों ने लगभग सुनिश्चित कर दिया है कि 1969-70 के बाद टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहली घरेलू टेस्ट सीरीज जीतेगी। डु प्लेसी सीरीज में पहली बार उम्दा योगदान दिया। इससे पहले सात पारियों में वो सिर्फ 55 रन ही बना पाए थे। उन्होंने इस पारी के दौरान आठवां टेस्ट शतक लगाचा जो ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उनका तीसरा शतक है। उन्होंने 178 गेंद की अपनी पारी में 18 चौके और दो छक्के लगाए। पैट कमिंस ऑस्ट्रेलिया के सबसे सफल गेंदबाज रहे जिन्होंने 58 रन देकर चार विकेट हासिल किए। उन्होंने मैच में 141 रन देकर नौ विकेट चटकाए जो उनके करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।