Sri Lanka Cricket Board to appeal against ICC charges on Dinesh Chandimal
Dinesh Chandimal ©IANS

बॉल टैंपरिंग मामले में सख्त आईसीसी ने हाल ही में श्रीलंकाई कप्तान दिनेश चांदीमल को वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट के दौरान गेंद की स्थिति बदलने की कोशिश के आरोप में दोषी मानते हुए उनपर एक टेस्ट मैच का बैन लगाया है। जिसके बाद चांदीमल वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज का आखिरी टेस्ट मैच नहीं खेल पाएंगे।

खबरों की माने तो श्रीलंका क्रिकेट ने इस आरोप के खिलाफ अपील करने का फैसला किया है। बोर्ड के अधिकारियों ने श्रीलंका टीम के साथ काफी चर्चा करने के बाद आरोप के खिलाफ लड़ने का फैसला किया है। अगर श्रीलंका बोर्ड ऐसा करता है तो चांदीमल वेस्टइंडीज के खिलाफ तीसरा टेस्ट मैच खेल पाएंगे। लेकिन अगर बाद चांदीमल सुनवाई में बेकसूर साबित नहीं होते हैं तो उन पर लगा बैन दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज के दौरान लागू होगा।

बॉल टैंपरिंग मामले में श्रीलंकाई कप्तान चांदीमल पर एक टेस्ट का निलंबन
बॉल टैंपरिंग मामले में श्रीलंकाई कप्तान चांदीमल पर एक टेस्ट का निलंबन

क्या हैं आईसीसी के आरोप

आईसीसी ने कप्तान चांदीमल, कोच चंडिका हथुरुसिंघे और मैनेजर असंका गुरुसिंघे को लेवल तीन के अपराध के तहत आरोपी करार किया है, जिसका सीधा संबंध खेल भावना को तोड़ने से है। श्रीलंका क्रिकेट के अपील करने के बाद आईसीसी को चांदीमल, कोच हथुरुसिंघे और मैनेजर  गुरुसिंघे का केस देखने के लिए एक जुडिशयल कमिश्नर नियुक्त करना होगा। साथ ही चांदीमल बारबाडोस में होने वाले तीसरे मैच में खेल सकेंगे।

श्रीलंका टीम का पक्ष

क्रिकबज में छपी एक खबर के मुताबिक श्रीलंका क्रिकेट नियम के आवेदन की असंगतता और सही प्रक्रिया का पालन नहीं करने को आधार बनाकर अपील करेगा। चांदीमल पर गेंद टैंपरिंग का आरोप तीसरे दिन का खेल शुरू होने से कुछ मिनट पहले लगाया गया था। जिसके विरोध में श्रीलंकाई खिलाड़ी दो घंटे तक मैदान पर नहीं उतरे। बोर्ड का कहना है कि अगर दूसरे दिन गेंद से छेड़छाड़ की गई थी तो आरोप भी दूसरे दिन ही लगाया जाना चाहिए था। बोर्ड का ये भी कहना है कि जब दूसरे दिन स्टंप पर गेंद अंपायरों के हवाले की गई थी तो उन्हें उसकी स्थिति से कोई शिकायत नहीं थी। उन्होंने मैच रेफरी जवागल श्रीनाथ पर असंगतता का आरोप लगाया है।