Sri Lanka tour of India: We are returning home as better players, says Nic Pothas
निक पोथास © AFP

भारत दौरे पर श्रीलंका टीम सिर्फ एक मैच जीत सकी लेकिन कोच निक पोथास ने कहा कि उनकी टीम ने टुकड़ों में अच्छा प्रदर्शन किया और वे बेहतर खिलाड़ी बनकर वापस लौटेंगे। श्रीलंका को तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में 1-0 से, वनडे में 1-2 से और टी20 में 0-3 से हार झेलनी पड़ा। पोथास ने कहा, ‘‘हमने टुकड़ों में अच्छा खेला। पहले टी20 मैच में हम अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके लेकिन दूसरे मैच में दो बेहतरीन पारियां देखने को मिली।’’

उनका इशारा भारत के कप्तान रोहित शर्मा के 208 और एंजेलो मैथ्यूज के 111 रनों की पारी की ओर था। भारत से लौटकर श्रीलंका को बांग्लादेश के दौरे पर जाना है जहां उन्हें दो टेस्ट और दो वनडे मैच खेलने हैं। पोथास ने कहा, ‘‘भारत दौरा हमेशा कठिन होता है और मेरा मानना है कि हमारे खिलाड़ियों ने इससे बहुत कुछ सीखा। सभी यहां से मानसिक, शारीरिक और तकनीकी रूप से बेहतर खिलाड़ी बनकर जा रहे हैं।’’

पोथास को भारतीय टीम के दक्षिण अफ्रीका दौरे पर करीबी मुकाबले की उम्मीद

श्रीलंका को 3-0 से हराने के बाद टीम इंडिया ने मनाया क्रिसमस, महेंद्र सिंह धोनी बने सैंटा
श्रीलंका को 3-0 से हराने के बाद टीम इंडिया ने मनाया क्रिसमस, महेंद्र सिंह धोनी बने सैंटा

दक्षिण अफ्रीका में जन्मे श्रीलंका के मुख्य कोच निक पोथास का अनुमान है कि भारतीय टीम के दक्षिण अफ्रीका दौरे पर करीबी मुकाबले होंगे बशर्ते विराट कोहली की अगुवाई में भारतीय बल्लेबाज मेजबान टीम की घातक गेंदबाजी का सामना कर सकें। पोथास ने कहा कि भारतीय टीम के पास हर हालात के अनुकूल खेलने वाले खिलाड़ी हैं। उन्होंने कहा, ‘‘अगर उन्हें हरा विकेट मिलता है तो उनके पास उसके अनुरूप गेंदबाज हैं। सपाट विकेट पर भी उनके पास बेहतरीन गेंदबाज है और स्पिनरों के अनुकूल विकेट पर खेलने के लिए उनके पास उम्दा स्पिनर हैं।’’

पोथास ने आगे कहा, ‘‘भारतीय बल्लेबाज अगर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ रन बना सके तो मुकाबला काफी कठिन होगा। वनडे क्रिकेट में भारत के पास काफी गहराई है। तीसरे टी20 में भी उन्होंने कई बदलाव किए और इससे उन्हें कोई नुकसान नहीं हुआ। एम एस धोनी लंबे समय से फिनिशर की भूमिका निभा रहे हैं और वह इस काम में दुनिया में सर्वश्रेष्ठ है। इस मैच में हार्दिक को यह मौका मिला। वे भविष्य के लिये ऐसे खिलाड़ी तैयार कर रहे हैं जो सीनियर खिलाड़ियों की जगह ले।” उन्होंने यह भी कहा कि कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल जैसे भारतीय स्पिनर दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों को कड़ी चुनौती पेश कर सकते हैं।