शिखर धवन © Getty Images
शिखर धवन © Getty Images

भारत ने श्रीलंका के खिलाफ पल्लेकेले में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट के पहले दिन 6 विकेट पर 329 रन बना लिए हैं। दिन का खेल खत्म होने तक हार्दिक पांड्या 1 और रिद्धिमान साहा 13 रन बनाकर क्रीज पर हैं। दिन के हीरो शिखर धवन रहे। उन्होंने शानदार 119 रन बनाए। वहीं केएल राहुल ने 85 और विराट कोहली ने 42 रन बनाए। श्रीलंका की ओर से मलिंडा पुष्पाकुमारा ने 3, लक्षन संदाकन ने दो और विश्वा फर्नांडो ने एक विकेट झटका। इससे पहले विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। कप्तान विराट कोहली ने अपनी टीम में एक परिवर्तन किया। पिछले मैच में सस्पेंड किए गए रवींद्र जडेजा की जगह इस मैच में कुलदीप यादव को अंतिम एकादश में शामिल किया गया।

शिखर धवन और के एल राहुल ने टीम इंडिया को गजब की शुरुआत दिलाई। के एल राहुल ने गेंद पर आंखें जमाई लेकिन दूसरी ओर शिखर धवन क्रीज पर आते ही श्रीलंकाई गेंदबाजों पर धावा बोलते नजर आए। टीम इंडिया ने अपने 50 रन सिर्फ 55 गेंदों में पूरे कर लिए। 100 रनों के लिए टीम इंडिया ने सिर्फ 107 गेंदों का समय लिया।

खेल के पहले सेशन में टीम इंडिया ने कोई विकेट नहीं गंवाया था। तीन विकेट टीम इंडिया ने दूसरे सेशन में ही गंवाए। पहला विकेट 40वें ओवर में केएल राहुल के रूप में गिरा। राहुल ने 85 रन बनाए। इस तरह से पहले विकेट के लिए 188 रनों की साझेदारी टूट गई। 48वें ओवर में शतक बनाने के थोड़ी देर बाद धवन भी आउट हो गए। धवन ने 119 रन बनाए। धवन का टेस्ट में यह छठवां शतक है।   [भारत बनाम श्रीलंका, तीसरा टेस्ट, पहला दिन, फुल स्कोरकार्ड जानने के लिए क्लिक करें]

विदेशी सरजमीं पर यह धवन का पांचवां शतक है। इसका मतलब है कि अपने देश में धवन ने एक ही शतक लगाया है। धवन के आउट होने के तीन ओवर बाद ही चेतेश्वर पुजारा (8) भी आउट हो गए। इस तरह से टीम इंडिया के 229 रनों पर 3 विकेट आनन-फानन में गिर गए। इस विपरीत परिस्थिति में विराट कोहली और रहाणे ने पारी को संभालना शुरू किया। लेकिन टी के बाद गेंद टर्न होने लगी।

खामियाजन पुष्पाकुमारा ने अजिंक्य रहाणे को एक खूबसूरत गेंद पर बोल्ड कर दिया। रहाणे ने 17 रन बनाए और 35 रनों की साझेदारी जो उन्होंने कोहली के साथ चौथे विकेट के लिए निभाई थी वह टूट गई। इसके बाद कोहली अश्विन के साथ मिलकर पारी को आगे बढ़ाने लगे। दोनों ही बेहद धीमी बल्लेबाजी कर रहे थे।

13 ओवरों बाद जब कोहली अर्धशतक के करीब लग रहे थे तभी वह संदाकन की गेंद पर एक लापरवाही भरा स्ट्रोक खेलकर 42 रन बनाकर आउट हो गए। उसके बाद बल्लेबाजी करने आए आर. अश्विन और रिद्धिमान साहा ने काफी देर तक विकेट नहीं गिरने दिया लेकिन पारी के 88वें ओवर में अश्विन (31) को विश्वा फर्नांडो ने आउट कर दिया। इस तरह से छठवें विकेट के लिए निभाई गई 26 रनों की साझेदारी टूट गई। दिन का खेल खत्म होने तक टीम इंडिया ने 6 विकेट पर 329 का स्कोर बना लिया है।