Sri Lanka’s batting coach Thilan Samaraweera is happy that South Africa is short of one spinner
Keshav Maharaj © Getty Images

कोलंबो टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका गेंदबाज केशव महाराज ने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 8 विकेट झटके। फिलहाल प्रोटियाज टीम के स्पिन अटैक का जिम्मा महाराज अकेले ही संभाले हैं क्योंकि कप्तान फाफ डु प्लेसिस तीन तेज गेंदबाजों और एक अतिरिक्त बल्लेबाज के साथ खेल रहे हैं। श्रीलंकाई कोच इससे काफी खुश हैं।

कोलंबो टेस्ट के पहले दिन का खेल खत्म बोने के बाद बल्लेबाजी कोच थिलन समरवीरा ने कहा, “मैं काफी हैरान था। मुझे लगा कि वो तीन तेज गेंदबाज और दो स्पिन गेंदबाजों के साथ खेलेंगे। लेकिन वो पेस के साथ जुड़े रहे, जो कि उनकी ताकत है। मेरा मानना है कि उनका अतिरिक्त स्पिन गेंदबाज के साथ ना खेलने हमारे लिए अच्छा है। अगर आप स्कोरकार्ड की ओर देखें तो एक स्पिनर ने आठ विकेट लिए हैं। यकीनन उनके पास एक स्पिन गेंदबाज कम है।”

टेस्ट क्रिकेट नहीं खेलना चाहते हैं बांग्लादेश के तीन बड़े खिलाड़ी
टेस्ट क्रिकेट नहीं खेलना चाहते हैं बांग्लादेश के तीन बड़े खिलाड़ी

समरवीरा को यकीन है कि उनके स्पिन गेंदबाज इन स्थितियों का फायदा उठाएंगे। चंडिका हथरुसिंघा की गैर मौजूदगी में कार्यवाहक कोच की भूमिका निभा रहे समरवीरा ने कहा, “फिलहाल ऐसा लग रहा है कि पिच पर काफी स्पिन है। लेकिन हमे दक्षिण अफ्रीका की बल्लेबाजी तक इंतजार करना होगा। केशव महाराज को श्रेय मिलना चाहिए, जिस तरह उसने हम पर दबाव बनाया और हमारे शीर्ष क्रम के खिलाफ अच्छी गेंदे कराई।”

पहले दिन का खेल खत्म होने तक श्रीलंका ने 9 विकेट पर 277 रन बनाए थे। समरवीरा को लगता है कि इस पिच पर ये स्कोर प्रतिद्वंदी साबित होगा। उन्होंने कहा, “हमे अपने स्कोर पर विश्वास है। दिन के आखिरी 6-7 ओवरों में पिच बहुत अलग लगी। पार्ट टाइम ऑफ स्पिन एडन मारक्रम को अच्छा खासा उछाल मिल रहा था। हम सही एरिया में गेंदबाजी करनी होगी, अगर हम ऐसा करने में कामयाब हो जाते हैं, तो हम विकेट ले सकते हैं। टॉस जीतने के बाद हम 270-300 का स्कोर देख रहे थे। जब खेल आगे बढ़ेगा, इस पिच पर चौथे-पांचवें दिन बल्लेबाजी करना मुश्किल होगा। मुझे खुशी है कि हम 277/9 पर हैं, ज्यादा खुशी होती अगर हम 275/6 पर होते।”