Steven Smith: It was hurting me that I couldn’t help Australia win games in England
Steve Smith © Getty Images

हाल ही में इंग्लैंड दौरे पर वनडे सीरीज खेलने गई ऑस्ट्रेलियाई टीम को 5-0 से शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा। दक्षिण अफ्रीका दौरे पर हुए बॉल टैंपरिंग हादसे के बाद ऑस्ट्रेलिया का मनोबल पहले ही गिरा हुआ था और टीम के दो बड़े खिलाड़ियों स्टीवन स्मिथ, डेविड वार्नर के बिना कंगारू टीम इंग्लैंड के खिलाफ चुनौती भी नहीं पेश कर पाई। इंग्लैंड की जमीन पर मिली सबसे बड़ी हार से पूर्व कप्तान स्मिथ भी काफी दुखी हैं। स्मिथ ने कहा कि उन्हें इस बात का दुख है कि वो अपनी टीम को जीत दिलाने में मदद नहीं कर सकते हैं।

GT20 Canda: स्टीवन स्मिथ ने जड़ा अर्धशतक, टीम को जीत दिलाई
GT20 Canda: स्टीवन स्मिथ ने जड़ा अर्धशतक, टीम को जीत दिलाई

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के लगाए दो साल के बैन के बाद स्मिथ फिलहाल कनाडा की टी20 लीग में खेल रहे हैं। इस दौरान उन्होंने ऑस्ट्रेलिया कि हार के बारे में बात करते हुए स्मिथ ने कहा, “अगर सच कहूं तो मैं काफी भावुक हूं। लड़कों को इंग्लैंड में उतना अच्छा नहीं खेलते हुए देखकर जितना कि वो खेल सकते हैं दुख हुआ। इंग्लैंड ने बहुत अच्छा खेला। इस बात से मुझे बेहद तकलीफ हो रही थी कि मैं वहां जाकर उनकी मदद नहीं कर सकता हूं, उन्हें मैच नहीं जिता सकता हूं। और जब वो इंग्लैंड जाने के लिए प्लेन में चढ़े तो मैं काफी भावुक हुआ था, ये मुश्किल था।”

मैच से पहले नर्वस थे स्मिथ

स्मिथ ने डैरेन सैमी की कप्तानी में टोरोंटो नेशनल्स के लिए खेलते हुए पहले मैच में शानदार अर्धशतक बनाया। बॉल टैंपरिंग मामले के बाद पहली बार मैदान पर उतरे स्मिथ ने माना कि मैच से पहले वो काफी नर्वस थे। उन्होंने कहा, “मैं आमतौर पर मैच से पहले नर्वस नहीं होता हूं लेकिन ईमानदारी से कहूं तो मैं आज काफी नर्वस था। तीन महीने का ब्रेक और इस दौरान मैने ज्यादा गेंदे नहीं खेली। मैने नेट में कुछ समय जरूर बिताय लेकिन पिच पर बल्लेबाजी नहीं की। कल मैने इंडोर नेट पर अभ्यास किया था और मुझे अच्छा लग रहा था। आज कुछ किस्मत ने भी साथ दिया लेकिन मैं उतना अच्छा महसूस नहीं कर रहा था। जब आप अच्छा महसूस ना कर रहे हो तो रन बनाना सही रहता है। उम्मीद है कि आगे चीजें सकारात्मक रहेंगी।”

‘मैने कई गलत फैसले लिए’

स्मिथ ने माना कि पिछले कुछ समय में उन्होंने कई गलत फैसले किए हैं और अब वो इस ब्रेक का इस्तेमाल अपने आप को मानसिक तौर पर तैयार करने में करना चाहते हैं। उन्होंने कहा, “मैं कई बेहद गलत फैसले ले रहा था और क्रीज पर मुझे बहुत खराब लग रहा था। मुझे लगता है कि आखिर में सब कुछ खेल के मानसिक हिस्से पर निर्भर करता है। मैने एशेज में बहुत ज्यादा ध्यान लगाया। एक ब्रेक इतनी बुरी चीज भी नहीं है। उम्मीद है कि मैं वापसी करूंगा और बड़े स्तर पर प्रदर्शन कर पाउंगा लेकिन देखते हैं कि क्या होता हैं।”

‘क्रिकेट ही मेरा रीहैब है’

स्मिथ पर लगा एक साल का बैन 28 मार्च 2019 को खत्म हो रहा है। इस बीच उनके पास खुद को तैयार करने के लिए काफी समय है। हालांकि स्मिथ क्रिकेट को ही रीहैब मानते हैं। उन्होंने कहा, “मैं झूठ नहीं कहूंगा, ये मेरी जिंदगी का सबसे मुश्किल समय रहा है, इस बात में कोई दोराय नहीं है लेकिन मैने अपनी सजा को स्वीकार कर लिया है और मैं आगे बढ़ रहा हूं। क्रिकेट खेलना मेरे रीहैब का हिस्सा है। मैं यही करना पसंद करता हूं और मैं टोरोंटो नेशनल्स को टूर्नामेंट जिताने में मदद करना चाहता हूं और सबसे जरूरी बात ये है कि मैं अच्छा समय बिताना चाहता हूं। यही बार डैरेन सैमी ने भी कहा है, कि आप मैदान पर जाएं, मजा करें और अच्छा क्रिकेट खेलें।”