Steven Smith personally apologies to his 9 years old fan who had cried watching him on screen
स्‍टीवन स्मिथ

बॉल टेंपरिंग विवाद में एक साल के लिए बैन किए जाने के बाद ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व कप्‍तान स्‍टीवन स्मिथ वापस अपने देश लौटे तो मीडिया की निगाहें उनपर थी। पत्रकारों के पास उनसे पूछने के लिए बहुत सवाल थे। 28 साल के स्मिथ पर देश का नाम खराब करने का कलंक था। वो मीडिया के सामने आए तो इस कलंक का भार नहीं उठा पाए और सबके बीच में ही अपनी गलते के लिए माफी मांगते हुए फूट-फूट कर रोने लगे। जिस किसी ने भी स्मिथ को रोते हुए देखा वो हैरान रह गया। टेस्‍ट रैंकिंग में नंबर एक के स्‍थान पर काबिज स्मिथ के करियर में कभी ऐसा दिन भी आएगा किसी ने ऐसा सोचा नहीं होगा। उस दिन केवल स्मिथ ही नहीं रोए। उनका नौ साल का नन्‍हा फैन भी स्मिथ के साथ बिलख बिलख कर रोया।

ऑस्‍ट्रेलिया के एक चैनल की न्‍यूज प्रेजेंटर डेबराह नाइट का नौ साल का बेटा स्‍टीवन स्मिथ का बहुत बड़ा फैन है। स्मिथ तो केवल अपनी पांच मिनट की प्रेस कांफ्रेंस के दौरान रोए, लेकिन उनका ये नन्‍हा फैन इसके बाद भी 20 मिनट तक रोता रहा। डेबराह ने अपने ट्विटर पर लिखा, ” मेरा बेटा स्मिथ का बहुत बड़ा फैन है। स्मिथ को रोता देख वो भी रोने लगा और मुझे उसे चुप कराने में 20 मिनट का वक्‍त लगा। मैं अपने बेटे और उसके जैसे तमाम बच्‍चों से ये कहना चाहूंगी कि वो स्मिथ को पत्र लिखें और उन्‍हें बताएं कि वो उनसे कितना प्‍यार करते हैं।” डेबराह नाइट का ये ट्वीट सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। जिस किसी ने भी इसे पढ़ा वा खुद को इसे रीट्वीट करने से नहीं रोक पाया। कुछ ही समय में ये बात स्‍टीवन स्मिथ तक भी पहुंच गई। उन्‍होंने खुद डेबराह को संपर्क किया और लिखा, “क्‍या आप निजी तौर पर अपने बेटे से मेरी तरफ से माफी मांग सकती हो। आपके बेटे को रुलाने के लिए मैं माफी चाहता हूं।”

 

स्मिथ के इस पर्सनल मैसेज को देखकर डेबराह भी हैरान रह गई। उन्‍होंने ट्विटर पर स्मिथ के फैन्‍स को इसकी जानकारी देते हुए लिखा, ” स्मिथ ने मेरे बेटे से माफी मांगने के लिए पर्सनली मैसेज किया। उन्‍होंने मुझसे दरख्‍वास्‍त की थी कि मैं इस मैसेज को पब्लिक में ना लाऊं। ये कोई पीआर कैंपेन (प्रमोशन करना) नहीं है। मैं इसे पर्सनल नोट की तरह यहीं खत्‍म कर सकती थी, लेकिन मुझे लगा कि मुझे लोगों को बताना चाहिए कि स्मिथ किस तरह के इंसान हैं। मुझे लगता है उन्‍हें इससे आपत्ति नहीं होगी।”