Sunil Gavaskar criticises Shakib Al Hasan’s behaviour; fan recalls a 37-year-old incident
Sunil Gavaskar © CricketCountry

श्रीलंका और बांग्‍लादेश की टीम के बीच खेले गए निदहास ट्रॉफी के नॉकआउट मुकाबले में बांग्‍लादेश ने मेजबानों को हरा दिया। बांग्‍लादेश की टीम इस रोमांचक मैच को जीतने में कामयाब तो जरूर रही, लेकिन वो दर्शकों का दिल नहीं जीत पाई। बांग्‍लादेश का व्‍यवहार इस मैच के दौरान काफी आपत्तिजनक रहा, जिसके चलते स्‍वयं बांग्‍लादेश क्रिकेट बोर्ड के अध्‍यक्ष को आगे आकर अपनी टीम के व्‍यवहार के लिए माफी तक मांगनी पड़ी।

निदहास ट्रॉफी फाइनल में भारत का समर्थन करेंगे श्रीलंका के फैन्‍स
निदहास ट्रॉफी फाइनल में भारत का समर्थन करेंगे श्रीलंका के फैन्‍स

आईसीसी ने मैच के दौरान गलत व्‍यवहार के लिए बांग्‍लादेश के कप्‍तान शाकिब अल हसन और नुरुल हसन पर मैच फीस का 25 प्रतिशत जुर्माना भी लगाया। दरअसल, मैच के आखिरी ओवर की एक गेंद को लेकर हुए विवाद के बाद कप्‍तान शाकिब अल हसन पवेलियान से बाउंड्री लाइन तक आ गए और उन्‍होंने बल्‍लेबाजी करे उपकप्‍तान महमदुल्‍लाह को खेल बीच में ही छोड़कर साथी खिलाड़ी के साथ वापस आने के लिए कहा। बांग्‍लादेश के खिलाड़ियों की श्रीलंका के कप्‍तान थिसारा परेरा से बहस भी हुई। जीत के बाद जश्‍न के दौरान बांग्‍लादेश की टीम ने पवेलियन के शीश भी फोड़ दिए।

भारतीय टीम के पूर्व कप्‍तान सुनील गावस्‍कर ने बांग्‍लादेश के कप्‍तान शाकिब अल हसन द्वारा टीम को वापस बुलाने की जमकर आलोचना की। उन्‍होंने बांग्‍लादेश की टीम के व्‍यवहार को अस्‍वीकार्य माना। इसी बीच एक क्रिकेट फैन ने ट्विटर पर भारत और ऑस्‍ट्रेलिया के बीच साल 1981 में खेले गए एक मैच की वीडियो शेयर की, जिसने सुनील गावस्‍कर को आईना दिखा दिया।

दरअसल, मैच के दौरान अंपायर ने सुनील गावस्‍कर को एलबीडब्‍ल्‍यू आउट दे दिया था, लेकिन सुनील गावस्‍कार का मानना था कि वो नॉटआउट थे। अंपायर का निर्णय गलत था। लिहाजा गुस्‍से में आकर सुनील गावस्‍कर दूसरे छोर पर बल्‍लेबाजी कर रहे चेतन चौहान को अपने साथ पवेलियान ले जाने लगे। उन्‍होंने कहा कि ये गलत निर्णय है, हम मैच को आगे नहीं खेलेंगे। चेतन चौहान सुनील गावस्‍कर के साथ चल दिए, लेकिन वो बाउंड्री लाइन से बाहर नहीं गए। ये मुकाबला जारी रहा और भारत ने ये मैच जीत लिया।