Sunil Gavaskar: Glenn Maxwell has flopped due to his ego problem
Sunil Gavaskar, Glenn Maxwell © CC, IANS

सनराइजर्स हैदराबाद और कोलकाता नाइटराइडर्स के बीच खेले जा रहे दूसरे क्‍वालिफायर मुकाबले से पहले सुनील गावस्‍कार वो कह बैठे जिसे शायद वो लंबे समसे से कहना चाह रहे थे, लेकिन इसे जाहिर नहीं कर पा रहे थे। प्री मैच प्रेजेंटेशन के दौरान बातचीत करते हुए गावस्‍कर का गुस्‍सा फूट पड़ा। गावस्‍कर ने कहा कि ग्‍लेन मैक्‍सवेल का इगो काफी बड़ा है, जिसके कारण वो रन नहीं बना पा रहे हैं। वो पिछले लगातार तीन सीजन से प्‍लॉप हैं क्‍योंकि उनका इगो काफी बड़ा है।

ओपनर शिखर धवन ने हासिल की खास उपलब्धि, बने 7वें भारतीय
ओपनर शिखर धवन ने हासिल की खास उपलब्धि, बने 7वें भारतीय

नौ करोड़ में दिल्‍ली की टीम में हुए शामिल

आईपीएल 2018 में दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स ने ग्‍लेन मैक्‍सवेको नौ करोड़ की भारी भरकम रकम देकर खरीदा, लेकिन महंगे विदेश खिलाड़ियों की लिस्‍ट में शुमार ऑस्‍ट्रेलिया का ये नामी चेहरा पिछले दो सीजन की तरह इस सीजन में भी प्‍लॉप रहा। इस सीजन में 12 मुकाबालों में मैक्‍सवेल ने 14.08 की औसत से महज 169 रन बनाए। आईपीएल 2017 में इस खिलाड़ी ने 14 मैचों में 31 की औसत से 310 रन बनाए थे, जबकि 2016 में मैक्‍सवेल का प्रदर्शन इससे भी खराब रहा था। उस सीजन में मैक्‍सवेल ने खेले 11 मुकाबलों में 19.88 की औसत से 179 रन बनाए।

रिकी पोंटिंग की नीतियों पर उठाए सवाल

गावस्‍कर ने ग्‍लेन मैक्‍सवेल के बारे में इससे ज्‍यादा तो कुछ नहीं कहा, लेकिन उनक इशारा कहीं न कहीं दिल्‍ली के कोच रिकी पोंटिंग की नीतियों पर ही था। हाल ही गौतम गंभीर ने अपने बयान में कहा था कि उन्‍होंने केवल दिल्‍ली की कप्‍तानी छोड़ी थी, प्‍लेइंग इलेवन से बाहर बैठने का निर्णय मेरा नहीं था। गंभीर ने कहा था अगर मुझे प्‍लेइंग इलेवन से बाहर बैठना होता तो मैं सन्‍यास ले लेता। सुनील गावस्‍कर असल में ये कहना चाह रहे थे कि फ्लॉप मैक्‍सवेल को बार-बार मौके देने और गंभीर को प्‍लइंग इलेवन से बाहर करना रिकी पोंटिंग की गलत नीतियों का ही नतीजा है।