Suresh Raina: I feel MS Dhoni can do better up the order
सुरेश रैना, महेंद्र सिंह धोनी © Getty Images

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज के दौरान महेंद्र सिंह धोनी का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा है। निचले क्रम में बल्लेबाजी करने की वजह से ज्यादातर मैचों में धोनी को खेलने का मौका नहीं मिला है और जब वो क्रीज पर आए भी हैं तो उनसे वो धमाकेदार बल्लेबाजी देखने को नहीं मिली है, जिसके लिए धोनी जाने जाते हैं। क्रिकेट समीक्षको का मानना है कि कप्तान और टीम मैनेजमेंट को धोनी का बल्लेबाजी क्रम बदलने की जरूरत है। उन्हें ऊपरी क्रम में खेलने का मौका मिलना चाहिए और टीम में फिनिशर की भूमिका किसी युवा बल्लेबाज को लेनी होगी। सुरेश रैना का भी यही मानना है।

हाल ही में आज तक को दिए एक इंटरव्यू के दौरान रैना ने कहा कि अगर धोनी बल्लेबाजी क्रम में ऊपर आते हैं तो वो और अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं। रैना ने कहा, “मुझे लगता है कि एमएस धोनी ऊपरी क्रम में अच्छा कर सकते हैं। वो गेंद को ज्यादा अच्छे से हिट कर सकते हैं और उन्हें ज्यादा समय मिलेगा। वो ऐसे खिलाड़ी हैं जो अगर ऊपरी क्रम में बल्लेबाजी करते हैं तो वो टीम को हमेशा मजबूत स्थिति में रखते हैं।” रैना दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी20 सीरीज के जरिए टीम इंडिया में वापसी कर रहे हैं। वहीं रैना भी वनडे में चार या पांच नंबर के मजबूत दावेदार हैं।

अच्छे प्रदर्शन के बाद भी मुझे टीम से बाहर कर दिया गया: सुरेश रैना
अच्छे प्रदर्शन के बाद भी मुझे टीम से बाहर कर दिया गया: सुरेश रैना

टी20 सीरीज के बारे में बात करते हुए रैना ने कहा, “टी20 सीरीज काफी अहम है, उसके बाद बांग्लादेश में सीरीज है और फिर आईपीएल लेकिन 50 ओवर के क्रिकेट का अनुभव काफी जरूरी है। जब आप 4 या 5 नंबर पर खेलते हो इससे काफी फर्क पड़ता है।” लंबे समय तक टीम इंडिया से बाहर रहे रैना अपने कमबैक को लेकर उत्साहित हैं। उन्होंने कहा, “मैं निराश था क्योंकि मैं खेल नहीं रहा था। मुझे समझ नहीं आ रहा था कि मैं क्यों टीम से बाहर हूं। मैने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अर्धशतक बनाया था। मैने हिम्मत नहीं हारी थी और मैं देश के लिए खेलते समय अपना पूरा योगदान दूंगा।”

वनडे क्रिकेट में खेलने के बारे में बात करते हुए रैना ने कहा, “आपको अच्छी गेंदबाजी करनी होती और फील्डिंग भी कसी होनी चाहिए ताकि कोच और कप्तान ये समझ सके कि आप एक अहम खिलाड़ी है। आपको लगातार गियर बदलने पड़ते हैं, अगर आपके तीन शीर्ष बल्लेबाज और मध्य क्रम अच्छा करता है तो आप 350 का स्कोर भी आसानी से हासिल कर लेंगे। जब भी रोहित, शिखर और कोहली खेलते हैं तो वो हमेशा बड़ा स्कोर बनाते हैं।”