Suresh Raina: Playing for CSK is like coming back home
Suresh Raina CSK © IANS (File photo)

नौ आईपीएल सीजन में प्लेऑफ में क्वालिफाई कर कुल तीन बार ट्रॉफी पर कब्जा करने वाली चेन्नई सुपरकिंग्स को इस टूर्नामेंट की सबसे सफल टीम कहना गलत नहीं होगा। सीएसके के खिलाड़ी और फैंस का समर्थन इसे बाकी टीमों से अलग बनाता है। कई खिलाड़ियों के लिए सीएसके केवल एक टीम नहीं बल्कि उनका परिवार है और यहां खेलना घर लौटने जैसा है। ऐसा कहना है टीम के बल्लेबाज सुरेश रैना का।

रैना ने सीएसके की वेबसाइट को दिए बयान में कहा, “चेन्नई सुपरकिंग्स मेरे दिल के करीब रही है और मैं खुश हूं कि पीली जर्सी में हम एक और खिताब जीते हैं। सीएसके के लिए खेलना घर लौटने जैसा है। 11 आईपीएल सीजन खेलने के बाद भी और ज्यादा खेलने की भूख हैरान करने वाली है। तीन बार मैं विजेता टीम का हिस्सा रह चुका हूं।”

'अगर हम खराब प्रदर्शन नहीं करते तो महेंद्र सिंह धोनी को मौका कैसे मिलता'
'अगर हम खराब प्रदर्शन नहीं करते तो महेंद्र सिंह धोनी को मौका कैसे मिलता'

11वें आईपीएल सीजन में सीएसके ने महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में सनराइजर्स हैदराबाद को तीसरा आईपीएल खिताब जीता है। रैना ने धोनी की कप्तानी की तारीफ की और कहा, “माही खेल का बेहतरीन एंबेसेडर रहा है। उनकी नेतृत्व क्षमता शानदार है। वो युवा खिलाड़ियों पर भरोसा करता है। सीएसके टीम में उसका योगदान अतुलनीय है।”

आईपीएल 2018 की नीलामी के दौरान सीएसके को अपने खिलाड़ियों की उम्र को लेकर काफी आलोचना का सामना करना पड़ा था। टीम के ज्यादातर खिलाड़ी 30 से ज्यादा की उम्र के थे। रैना का मानना है कि इस अनुभव और युवा जोश के सही मिश्रण ने टीम की जीत में बड़ी भूमिका निभाई। उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि घरेलू खिलाड़ियों ने हमारे लिए अच्छा प्रदर्शन किया। अंबाती रायुडू, दीपक चाहर और शार्दुल ठाकुर के साथ हरभजन सिंह, रविंद्र जडेजा, फॉफ ड्यु प्लेसी और धोनी के अनुभव ने हमारे लिए काम किया।”