Team India needs to identify specialised slip fielders, says Mohammad Azharuddin
Ajinkya Rahane © Getty Images

बर्मिंघम टेस्ट के दूसरे दिन भारतीय कप्तान विराट कोहली की 149 रनों की साहसिक पारी की मदद से टीम इंडिया ने मैच में पकड़ बनाई हुई है। हालांकि अब भी कई पक्ष हैं जहां भारतीय टीम को काम करने की जरूरत है। स्लिप फील्डिंग टीम के लिए बड़ी समस्या है।

बेस्ट बनने की इच्छा विराट कोहली को दूसरों से अलग बनाती है: संजय बांगड़
बेस्ट बनने की इच्छा विराट कोहली को दूसरों से अलग बनाती है: संजय बांगड़

एजबेस्टन में खेले जा रहे इस टेस्ट मैच में दोनों टीमों की ओर से स्लिप पर कई कैच छोड़े गए हैं जो बाद में महंगे साबित हुए हैं। पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरूद्दीन ने इस बारे में बात करते हुए कहा, “स्लिप एक खास फील्डिंग पोजीशन है। आपको खिलाड़ियों की पहचान करनी होगी और उन्हें स्लिप फील्डिंग का अभ्यास करना चाहिए। विशेष रूप से लंबे फॉर्मेट खेलने वाले खिलाड़ियों को अभ्यास के दौरान कम से कम 50-60 कैच लेने चाहिए।”

अजहरूद्दीन ने आगे कहा, “हमें उन्हें पहचानना होगा क्योंकि उन्हें अभ्यास करना है और इसके लिए तैयार होना है। कभी कभी खिलाड़ी ऐसा करना नहीं चाहते हैं। आपको सही पोजीशन में खड़े रहना होता है, लंबे समय के लिए ध्यान लगाकर खड़े रहना होता है। ये मुश्किल काम है। स्लिप पर खड़े फील्डर को काफी बदलाव करने होते हैं। कभी जब आप ऊपर खड़े होते हैं, फिर गेंद आपके पैर की ओर आती है और आप नीचे नहीं झुक पाते। आपको हल्का सा झुककर खड़े रहना होता है, ताकि आप नीचे झुक सको और अगर गेंद ऊपर आती है तो उसे भी छलांग लगाकर पकड़ सको। स्लिप में प्रतिक्रिया तेज होनी चाहिए, खासकर जब आप स्पिन के खिलाफ फील्डिंग कर रहे हो।”